Logo
Death due drinking acid: मध्यप्रदेश के इंदौर में हैरान करने वाली घटना सामने आई है। पांच मई को छह साल के बच्चे ने पानी समझकर एसिड पी लिया। आठ दिन चले इलाज के बाद बच्चे की 13 मई को मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद परिवार में हड़कंप मच गया।

Death due drinking acid: पानी समझकर एसिड पीने से छह साल के बच्चे की मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद घर में हड़कंप मच गया।पोस्टमार्टम के बाद पुलिस ने शव को रवाना कर दिया है। घटना इंदौर के बाणगंगा की है। बाणगंगा पुलिस के मुताबिक, माखन(6)पुत्र कैलाश अहिरवार ने 5 मई की रात को गलती से पानी समझकर एसिड पी लिया। रात में उसकी तबीयत बिगड़ी। बच्चे को इलाज के लिए एमवाय अस्पताल में भर्ती करवाया। आठ दिन चले इलाज के बाद बच्चे की सोमवार को मौत हो गई।

ऐसे समझें पूरी घटना
जानकारी के मुताबिक, बच्चे माखन की मां ने रचना ने रात में दाल बाटी बनाई थी। दाल-बाटी खाने के बाद बच्चा माखन अपने पिता के पास सो गया। रात में बच्चे को प्यास लगी तो पिता कैलाश ने पानी दिया। बच्चा फिर सो गया। कुछ देर बाद बच्चा फिर उठा और मां के पास नीचे जाकर सो गया। दो बजे बच्चे ने फिर पानी मांगा। मां ने पानी पिलाकर सुला दिया।

रात तीन बजे उठा और पी लिया एसिड 
रात तीन बजे फिर से बच्चा उठा और उसने कूलर के पास रखी बोतल से एसिड पी लिया और सो गया। कुछ देर बाद बच्चे के गले में जलन हुई मां रचना को उठाकर कहां कि उसे उल्टी आ रही है। मां बच्चे को बाथरूम ले गई। उल्टी में बदबू आई तो रचना डर गई। पति को उठाया। पूछताछ में बच्चे ने बोतल का पानी पीने की बात कही। इसके बाद बच्चे को अस्पताल लेकर पहुंचे।

फेरी वाले से खरीदा था एसिड 
कैलाश विदिशा के रसीली साउ तहसील लटेरी के रहने वाले हैं। कैलाश बाणगंगा की एक फैक्ट्री में काम करते हैं। माखन कैलाश का इकलौता बेटा है। बेटे का अंतिम संस्कार गांव में ही करेंगे। बच्चे के पिता ने पुलिस को बताया कि साफ-सफाई के लिए उसने दोपहर में फेरी वाले से एसिड की बोतल ली थी। उसे कूलर के पास ही रख दिया दी थी। उन्हें नहीं पता बेटा रात में कब उठा और उसने इस तरह से बोतल से एसिड पी लिया।

 

jindal steel hbm ad
5379487