Logo
election banner
386 Houses Removed Bhadbhada Slum Bhopal: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में होटल ताज के सामने 100 साल पुरानी भदभदा बस्ती के हटाए जाने का विरोध शुरू

386 Houses Removed Bhadbhada Slum Bhopal: मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में होटल ताज के सामने सालों से घर बनाकर रह रहे तकरीबन 386 परिवारों को प्रशासन ने हटा दिए। उनकी बस्ती पर पिछले तीन दिन से मप्र सरकार के बुल्डोजर चल रहे हैं। कुछ लोगों ने तो खुद से मकान खाली कर दिए थे, लेकिन कई लोगों के घर प्रशासन ने खाली कराए। कांग्रेस परीक्षा के समय हुई इस कार्रवाई का विरोध किया है। पीसी शर्मा ने कहा, कई बच्चों का भविष्य संकट में आ गया है। वह मानवाधिकार आयोग से शिकायत करेंगे। 

भोपाल की होटल ताज के सामने भदभदा बस्ती में पिछेल दो दिन से कार्रवाई चल रही है। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने यहां स्थित 386 घरों को हटाने जाने के आदेश दिए हैं। 139 घर हटाए जा चुके हैं। शुक्रवार को तीसरे दिन 129 मकान ढहाए जाने हैं। प्रशासन का दावा है कि प्रभावित परिवारों के पुनर्वास की व्यवस्था की गई है।  मकान गिराने से पहले उनकी सहमति भी ली जाती है। 

प्रभावित परिवारों को मुआवजे के दो विकल्प 
कार्रवाई के दौरान किसी प्रकार का विरोध प्रदर्शन न हो इसके लिए व्यापक इंतजाम किए गए हैं। भोपाल पुलिस के 500 जवान तैनात हैं। साथ ही बस्ती से एक किमी पूर्व बैरिकेडिंग कर आमरास्ता रोक दिया गया है। मकान तोड़ने के लिए 10 मशीनें लगाई गई हैं। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह की मानें तो प्रभावित परिवारों को मुआवजा दिया गया है। शिफ्टिंग के लिए नगर निगम ने वाहन उपलब्ध कराए हैं। कुछ परिवारों को चांदपुर बैरसिया इलाके में पट्‌टे तो शेष को 1 लाख मुआवजा राशि या प्रधानमंत्री आवास का ऑप्शन दिया गया है। यह कार्रवाई दो दिन और चलेगी।

कार्रवाई से पहले दो बारा मुनादी और दो बार मोहलत दी
भोपाल का जिला प्रशासन भदभदा बस्ती में यह कार्रवाई NGT के आदेश पर कर रहा है। नगर निगम प्रशासन ने दो बारा मुनादी भी करा चुका है। रहवासियों को नोटिस जारी कर अतिक्रमण हटाने की मोहतल भी दी गई थी। सोमवार को मोहलत की अवधि समाप्त होने के बाद कलेक्टर ने रहवासियों की बैठक लेकर समझाइश दी। साथ ही एक दिन की और मोहलत दी गई। बुधवार से सख्ती और समझाइश के बीच कार्रवाई शुरू हुई। 

 

 

jindal steel Ad
5379487