Logo
हरियाणा में सोनीपत की रबड़ फैक्ट्री में आग से झुलसे फैक्ट्री संचालक की अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। बेटे अशुंल जैन व रीमा प्रधान राकेश देवगन की हालत भी गंभीर बताई जा रही है। डीसी ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

सोनीपत। मंगलवार शाम ब्लायर फटने से रबड़ बेल्ट फैक्ट्री में लगी आग में फंसे श्रमिकों को बचाने के लिए आगे आए फैक्ट्री संचालक दिल्ली के पीतमपुरा निवासी राहुल जैन अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई। राहुल जैने के साथ श्रमिकों को बचाने के लिए आए उनके बेटे अशुंल जैन व रीमा प्रधान राकेश देवगन सहित कुछ की हालत गंभीर बताई जा रही है। फैक्ट्री में अचानक आग लगने से वहां काम कर रहे करीब तीन दर्जन श्रमिक आग से झुलस गए थे। जिन्हें उपचार के लिए खानपुर मेडिकल कॉलेज सहित विभिन्न अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए डीसी ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं।

अचानक ब्लास्ट होने से झुलस गए थे राहुल जैन

मंगलवार शाम इंडस्ट्रीयल एरिया में रबड़ बेल्ट फैक्ट्री में आग लगने के बाद फैक्ट्री मालिक राहुल जैन अपने बेटे अंशुल व प्रधान राकेश देवगन के साथ आग में फंसे श्रमिकों को बचाने के लिए आगे आए थे। इसी दौरान अचानक ब्लॉस्ट होने से तीनों झुलस गए थे तथा उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। राहुल जैन की दिल्ली के अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई, जबकि उनके बेटे व प्रधान की हालत भी गंभीर बताई जा रही है।

इस सीजन की चौथी घटना, सिस्टम पर उठ रहे सवाल 

सोनीपत में फैक्ट्री में आग लगने की यह पहले घटना नहीं है। इससे पहले गैस लाइटर व शराब फैक्ट्री सहित आगजनी की तीन घटनाएं हो चुकी है। शराब फैक्ट्री में आग लगने के बाद ब्लायर फट गया था। जिससे सैंपल लेने के लिए वहां चढ़े एक कर्मचारी की मौत हो गई थी। इससे पहले गैस लाइटर बनाने की फैक्ट्री में आग लगी थी। हालांकि आगजनी की इस घटना में किसी प्रकार का जानी नुकसान नहीं हुआ था। एक के बाद एक फैक्ट्री में आगजनी की घटनाओं ने निगरानी के लिए बने सिस्टम की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है।

घायलों का अलग अलग अस्पतालों में चल रहा है इलाज

मंगलवार शाम करीब चार बजे ब्लायर फटने से रबड़ फैक्ट्री में लगी आग में करीब 36 झुलस गए थे। जिन्हें उपचार के लिए अलग अलग अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है। फैक्ट्री मालिक की मौत की सूचना के बाद पुलिस ने बुधवार सुबह शव को कब्जे में लिया तथा दिल्ली में पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया जाएगा। बताया जाता है कि दिल्ली के अस्पताल में उपचार के दौरान देर रात राहुल जैन की मौत हो गई थी।

सभी फैक्ट्रियों के ब्लायरों की होगी जांच

एक के बाद एक फैक्ट्री में आगजनी की बढ़ती घटना को देखते हुए डीसी ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। डीसी ने इसके साथ ब्लायर इंस्पेक्टर से सभी फैक्ट्रियों के ब्यालर का निरीक्षण करने और जांच रिपोर्ट सौंपने के आदेश दिए हैं। 
 

jindal steel Ad
5379487