Logo
election banner
हरियाणा के बहादुरगढ़ में एक युवक से ऑनलाइन बिडिंग कंपनी में प्राफिट का लालच देकर लाखों रुपए की ठगी की गई। पीड़ित ने ठगी की शिकायत पुलिस को दी। साइबर क्राइम पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

Bahadurgarh: पुलिस द्वारा जागरूकता मुहिम चलाने के बावजूद ठगी की वारदातों पर पूरी तरह से अंकुश नहीं लग पा रहा। पढ़े-लिखे लोग भी लोभ व लालचवश शातिरों के झांसे में आकर अपनी जमा पूंजी गंवा रहे हैं। बहादुरगढ़ में इस तरह के कई मामले हो चुके हैं। अब एक और वारदात सामने आई है। बिडिंग कंपनी में प्रॉफिट का झांसा देकर एक युवक को पौने सात लाख रुपए की चपत लगाई गई। पीड़ित ने पुलिस को शिकायत दी। साइबर थाना पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

टेलीग्राम पर एक लड़की का पीड़ित को मिला था मैसेज

पीड़ित संदीप ने बताया कि वह सेक्टर-16 स्थित एक कंपनी में काम करता है। गत 31 मार्च को टेलीग्राम पर उसके पास एक लड़की का मैसेज आया। लड़की ने कहा कि वह हार्वे नॉर्मन कंपनी से बोल रही है। कंपनी ऑनलाइन बिडिंग का काम करती है। लड़की ने संदीप को टेलीग्राम पर अपनी कथित कंपनी से संबंधित साइट का लिंक भेजा और उस पर रजिस्टर करने के लिए कहा। रजिस्टर के बाद संदीप को एक ग्रुप में जोड़ लिया। फिर उसे इसी साइट पर ऑनलाइन इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट की बोली लगाने के लिए कहा गया। एक प्रोडक्ट की वैल्यू 3599 रुपए और सेल अमाउंट 3700 दिखाया गया। इस पर संदीप ने 40 प्रोडक्ट की बोली लगा दी। बदले में उसके खाते में प्रॉफिट के 2125 रुपए भेज दिए गए। इस तरह से संदीप उनके झांसे में पूरी तरह से आ गया।

खाते में रुपए जमा करवाकर लगाया चूना

पीड़ित ने बताया कि शातिरों ने लगातार मैसेज कर उसको प्रोडक्ट पर बोली लगाने के लिए कहा। आरोपियों ने कहा कि यह रकम आपको टेंपरेरी तौर पर खाते में जमा करनी होगी, जो बाद में आपको वापस मिल जाएगी। इस तरह से शातिरों ने 11 बार करके उससे अपने खातों में रुपए मंगवाए। संदीप ने कभी हजारों में तो कभी लाख से अधिक ट्रांसफर किए और इस तरह से 18 अप्रैल तक छह लाख 75 हजार 488 रुपए भेज दिए। इतनी रकम ऐंठने के बाद भी शातिरों का मन नहीं भरा। उन्होंने संदीप से 9 लाख पांच हजार 999 रुपए की और डिमांड की। ये रुपए जमा कराने के बाद ही आपके सारे रुपए आपको वापस मिलेंगे। अब संदीप को अपने साथ हुई ठगी का अहसास हुआ। उसने पुलिस में शिकायत दी। साइबर क्राइम थाना पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

5379487