Logo
election banner
INLD Chief Murder Case: नफे सिंह राठी हत्याकांड पर उनके बेटे जितेंद्र राठी ने कहा कि पिता की मृत्यु के बाद उनके शरीर को लगभग 3:30 बजे शवगृह में स्थानांतरित कर दिया गया और लगभग 4 बजे प्राथमिकी दर्ज की गई।

Nafe Singh Rathee Murder Case: हरियाणा में इंडियन नेशनल लोकदल (INLD) के प्रदेश अध्यक्ष नफे सिंह राठी की रविवार 25 फरवरी की शाम को गोलीमार कर हत्या कर दी गई। राठी बहादुरगढ़ में बराही रेलवे फाटक बंद होने की वजह से रुके थे। इसी दौरान आई-10 कार में आए बदमाशों ने अभिवादन के बहाने राठी की फॉर्च्यूनर के पास पहुंचे। इसके बाद उन्होंने राठी की कार पर 40 से 50 राउंड गोलियां चलाईं। राठी को गर्दन और पीठ समेत 6 गोलियां लगीं। हमले में पार्टी कार्यकर्ता जयकिशन दलाल की भी मौत हो गई। वहीं 2 निजी सुरक्षाकर्मियों की हालत गंभीर बनी हुई है। इस हत्याकांड के बाद से प्रदेशभर में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है। 

हत्याकांड की होगी सीबीआई जांच 

इस बीच राज्य विधानसभा में हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा कि मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराई जाएगी। इस हत्याकांड के आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा और सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

'आरोपियों की गिरफ्तारी होने के बाद होगा अंतिम संस्कार'

घटना पर नफे सिंह राठी के बेटे जितेंद्र राठी ने कहा कि पिता की मृत्यु के बाद उनके शरीर को लगभग 3:30 बजे शवगृह में स्थानांतरित कर दिया गया और लगभग 4 बजे प्राथमिकी दर्ज की गई। हम अपने पिता का अंतिम संस्कार तब तक नहीं करेंगे। जब तक पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर लेती है। नफे सिंह राठी की हत्या मामले में हरियाणा पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर लिया है। पुलिस ने नरेश कौशिक, रमेश राठी, सतीश राठी और राहुल नाम के 4 लोगों को नामित किया है। बता दें कि नरेश कौशिक पूर्व विधायक है। जबकि रमेश राठी मौजूदा चेयरपर्सन सरोज राठी के पति हैं। उनके चाचा ससुर कर्मवीर राठी, देवर कमल राठी पर भी केस हुआ है। इसके अलावा सतीश राठी पूर्व मंत्री मांगेराम राठी का बेटा है। उनके पोते गौरव और राहुल को भी पुलिस ने आरोपी बनाया है। कुल 7 लोगों के खिलाफ केस दर्ज हुआ है। 

परिवार ने पोस्टमार्टम कराने से किया इनकार 

वहीं, राठी के परिवार ने पोस्टमॉर्टम कराने से इनकार कर दिया है। राठी समर्थकों ने अस्पताल के बाहर रोड पर जाम कर दिया है। उन्होंने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की। इनेलो नेता अभय सिंह चौटाला भी धरनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने CBI जांच कराने की मांग की।

जांच के लिए पांच टीमें गठित 

झज्जर DSP शमशेर सिंह ने कहा शिकायत के आधार पर हमने FIR दर्ज कर ली है। 5 टीमों का गठन किया गया है। जांच की जा रही है, आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा। हर तरह के CCTV कैमरों की मदद से सबूत इकट्ठे किए जा रहे हैं। संदिग्ध गाड़ी की भी जांच की जा रही है।

परिजन ने सरकार पर लगाए गंभीर आरोप 

नफे सिंह राठी के बेटे जितेंद्र राठी ने कहा कि हम पुलिस और प्रशासन से सभी आरोपियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग करते हैं। मेरे पिता 5 साल से सुरक्षा की गुहार लगा रहे हैं। सीआईडी से लगातार इनपुट मिल रहे थे, मेरे पिता सरकार के खिलाफ मुद्दे उठाते रहे और यही कारण है कि उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई। मुझे लगता है कि स्थानीय राजनेता इसमें शामिल हैं। इस घटना के बाद से प्रदेशभर में हडकंच मचा हुआ है। इस घटना पर सीएम मनोहर लाल, पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्डा और इनेलो नेता अभय चौटाला समेत तमाम दिग्गजों ने दुख जताया है। वहीं, अब इस बीच कुछ नेताओं ने हरियाणा की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा किया। 

सीबीआई जांच की मांग की

इनेलो नेता अभय चौटाला ने कहा कि नफे सिंह राठी की मौत के पीछे राज्य सरकार जिम्मेदार है। क्योंकि छह महीने पहले नफे सिंह ने मुझे बताया था, पुलिस ने जानकारी दी है कि उनकी जान को खतरा है और उन पर कभी भी हमला हो सकता है। अपनी सुरक्षा के लिए उन्होंने (नफे सिंह राठी) एसपी, सीएम और डीजी को पत्र भी लिखा थी कि वे इसकी जांच करें और उन्हें सुरक्षा मुहैया कराएं। लेकिन उन्हें कोई सुरक्षा नहीं दी गई। अभय चौटाला ने कहा कि जिन्हें सुरक्षा की जरूरत है उन्हें नहीं मिल रही है, बल्कि जो कई मामलों में आरोपी हैं उन्हें सरकार सुरक्षा मुहैया करा रही है। 

सीएम खट्टर को बताया जिम्मेदार

इसलिए मैं इस घटना के लिए साफ तौर पर सीएम को जिम्मेदार मानता हूं। उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति लिखकर दे रहा है कि उसकी जान को खतरा है तो सीएम को जांच करानी चाहिए थी और उसे सुरक्षा मुहैया करानी चाहिए थी। लेकिन राज्य सरकार ने ऐसा नहीं किया। हम मांग करेंगे कि इसकी सीबीआई जांच हो और आरोपियों को सजा मिले। उन्होंने कहा कि सरकार लॉरेंस गैंग का नाम लेकर खुद को बचाने की कोशिश कर रही है, लेकिन अगर वे ऐसा कह रहे हैं तो उन्होंने ऐसा क्यों नहीं किया पहले ही उन्हें कोई सुरक्षा प्रदान करें। 

दीपेंद्र हुड्डा बोले- हरियाणा अपराधियों का गढ़

इस घटना पर कांग्रेस राज्यसभा सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि बहादुरगढ़ में दिनदहाड़े इनेलो प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व विधायक श्री नफे सिंह राठी की गोली मारकर हत्या की खबर सुनकर गहरा आघात लगा। दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि व परिवारजनों एवं समर्थकों के प्रति गहरी संवेदनाएं प्रकट करता हूं। इस हमले में घायल हुए अन्य लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं। हरियाणा अपराधियों का गढ़ बन गया है। कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। अपराधी बेखौफ हैं और आम जन खौफ के साये में अपना जीवन गुजार रहे हैं। हरियाणा में आम जन की जुबान पर एक ही बात है कि प्रदेश में गोली चलाना, हत्या करना, फिरौती मांगना अब रोजमर्रा की बात हो गयी है।

ये भी पढ़ें:- हमलावरों का सामने आया CCTV, पूर्व MLA समेत 7 पर दर्ज किया केस, बेटे का अंतिम संस्कार से इंकार

jindal steel Ad
5379487