Logo
मई माह में इस बार आसमान से आग बरस रही है। बुधवार को सिरसा में तापमान 47.8 डिग्री तक पहुंच गया। 31 डिग्री के साथ महेंद्रगढ़ में सबसे गर्म रात रही। इस बार हरियाणा व दिल्ली एनसीआर में 50 तक पहुंच सकता है।

नारनौल/हिसार। ‘हाय रे गर्मी, कशुती गर्मी, बल गए रे, जल गए रे’ हीट वेव की चपेट में आए हरियाणा में पिछले कुछ दिनों से लोगों की जुबां से कुछ ऐसे ही शब्द सुनने को मिल रहे हैं। बुधवार तो 25 मई से शुरू होने वाले नौ तपा से पहले ही गर्मी ने झुलसा दिया। 47.8 डिग्री तापमान के साथ सिरसा उत्तर भारत में सबसे गर्म दिन और 31.0 डिग्री के साथ नारनौल में सबसे गर्म रात रही। प्रदेश के सात जिलों में तापमान 45 डिग्री से अधिक रहा। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में हरियाणा व दिल्ली एनसीआर में दिन का तापमान 50 और रात का 35 डिग्री तक पहुंच सकता है। जिससे तथा आने वाले कुछ दिनों में भी झुलसा देने वाली गर्मी से राहत की उम्मीद नहीं है।

अधिकतम 50 और न्यूनतम 35 तक पहुंचने की संभावना

आने वाले कुछ दिनों में गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद नहीं है। इतना ही नहीं हरियाणा व एनसीआर में दिन का अधिकतम तापमान 50 डिग्री और न्यूतनत तापमान 35 डिग्री तक पहुंचने की संभावना व्यक्त की जा रही है। 31.0 डिग्री तापमान के साथ नारनौल में उत्तर भारत की सबसे गर्म रात रही। जबकि 47.8 डिग्री तापमान के साथ सबसे गर्म दिन सिरसा में रहा। पूरे क्षेत्र में अधिकतर तापमान 45 से 47.8 डिग्री तक दर्ज किया गया। महेंद्रगढ़ व हिसार में 46.3 डिग्री, भिवानी में 46.0, दादरी में 45.8, रेवाड़ी में 45.5, रोहतक में 45.0, झज्जर में 43.6, सोनीपत में 42.4 डिग्री दर्ज किया गया।

क्या कहते हैं मौसम वैज्ञानिक 

मौसम विशेषज्ञ डॉ. चंद्र मोहन ने बताया कि आने वाले दिनों में हरियाणा एनसीआर दिल्ली में और अधिक तीखे तेवरों से भीषण गर्मी  और गंभीर हीट वेव और भी विकराल होगी। आने वाले एक सप्ताह में हरियाणा एनसीआर दिल्ली में भीषण गर्मी से राहत दिलाने वाली कोई बड़ी मौसम प्रणाली आने की संभावना नहीं है अगर पिछले साल से इस  साल की तुलना करें तो पिछले साल मई महीने में लगातार एक के बाद एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से मई महीने में लगातार बारिश बूंदा-बांदी और तेज गति से हवाएं चलने से सम्पूर्ण इलाके में तापमान सामान्य के आसपास बने रहे और हरियाणा एनसीआर दिल्ली में गर्मी और लूं के तेवर ढीले रहे साथ ही नौतपा के दौरान मौसम सुहावना बना रहा, परंतु इस साल परिस्थितियां बिल्कुल विपरीत बनीं हुईं हैं। पूरे क्षेत्र में बलुचिस्तान व थार मरूस्थलीय गर्म और शुष्क हवाएं चल रही हैं। जिससे गर्मी भी बढ़ रही है।

 रेड अलर्ट 

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, किसी भी मौसम में रेड अलर्ट बहुत खराब और खतरनाक स्थिति को देखकर जारी किया जाता है।गर्मियों में जब तापमान के  45 .0 डिग्री सेल्सियस को  पार करने की उम्मीद होती है  और लोगों में लू के प्रकोप से जान-माल के नुकसान का डर रहता है, तब मौसम विभाग लोगों को सचेत रहने की चेतावनी देते हुए रेड अलर्ट जारी करता है।

ऑरेंज अलर्ट

भारतीय मौसम विभाग गर्मियों में ऑरेंज अलर्ट  तब जारी करता है, जब तापमान 43.0 से 45.0 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया जाता है।उस समय ऑरेंज अलर्ट लोगों को सचेत करने के लिए होता है कि वे अपनी सेहत को लेकर किसी भी तरह की लापरवाही न करें और बहुत जरूरी होने पर ही घर से निकलें।

 येलो अलर्ट 

भारतीय मौसम विभाग द्वारा गर्मियों में जब तापमान  40.0 से 42.0  डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया जाता है, तब मौसम विभाग येलो अलर्ट जारी करता है।ये आने वाले समय में और भी भीषण गर्मी पड़ने का खतरा है। आमजन इसमें देखो और तैयार रहें ऐसे में लोगों को सावधान रहने की सलाह दी जाती है।

ग्रीन अलर्ट 

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार ग्रीन अलर्ट का सीधा सा अर्थ है कि मौसम एकदम साफ है और  आमजन को घबराने की कोई बात नहीं है।आप खुद को सुरक्षित समझें, मौसम को लेकर चिंता मुक्त और बेफिक्र रहें और अपने-अपने प्रतिदिन के काम करें आराम से करें।

jindal steel Ad
5379487