Logo
election banner
Ishan Kishan Shreyas Iyer Ranji Trophy Controversy: ईशान किशन और श्रेयस अय्यर को बीसीसीआई का फैसला नहीं मानना भारी पड़ सकता है। इन दोनों को बोर्ड सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर कर सकता है।

नई दिल्ली। टीम इंडिया से बाहर चल रहे ईशान किशन और श्रेयस अय्यर को बीसीसीआई की नफरमानी भारी पड़ सकती है। ईशान और श्रेयस दोनों अपने सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट खो सकते हैं। बता दें कि बीसीसीआई सचिव जय शाह ने सभी फिट खिलाड़ियों को रणजी ट्रॉफी में खेलने को कहा था। इसके बाद न तो ईशान और न ही श्रेयस अय्यर रणजी ट्रॉफी में खेलने के लिए उतरे। ऐसे में अब बीसीसीआई इन दोनों खिलाड़ियों पर एक्शन लेने का मूड बना चुका है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अजीत अगरकर की अगुआई वाली सेलेक्शन कमेटी ने 2023-24 सीजन के लिए सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल खिलाड़ियों की लिस्ट फाइनल कर ली है, जिसे जल्द ही बीसीसीआई घोषित करेगी। इस लिस्ट से ईशान किशन और श्रेयस अय्यर को बाहर रखा जा सकता है। क्योंकि इन दोनों ने बीसीसीआई का रणजी ट्रॉफी खेलने के आदेश को अनसुना कर दिया। इस संबंध में जय शाह ने सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल सभी खिलाड़ियों को चिठ्ठी भी लिखी थी। लेकिन, ईशान-श्रेयस ने बोर्ड के निर्देश को नहीं माना। 

ईशान रणजी ट्रॉफी नहीं खेल रहे
दिसंबर-जनवरी में दक्षिण अफ्रीका के भारत दौरे से वापस आने के बाद से किशन "व्यक्तिगत कारणों से" लंबे ब्रेक पर हैं। वह अपने मुंबई इंडियंस के कप्तान हार्दिक पंड्या के साथ बड़ौदा में प्रैक्टिस कर रहे हैं, लेकिन रणजी ट्रॉफी में झारखंड के लिए नहीं उतरे हैं। अय्यर बीकेसी में असम के खिलाफ मुंबई के अंतिम रणजी ट्रॉफी लीग मैच में अनुपस्थित थे और शुक्रवार से बड़ौदा के खिलाफ रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल में भी नहीं खेलेंगे।

श्रेयस भी फिट होने के बावजूद नहीं खेले
श्रेयस अय्यर ने मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन को सूचित किया था कि वह पीठ की ऐंठन के कारण चयन के लिए उपलब्ध नहीं हैं। लेकिन नेशनल क्रिकेट एकेडमी में स्पोर्ट्स साइंस और मेडिकल के प्रमुख नितिन पटेल ने बीसीसीआई और सेलेक्टर्स को एक ईमेल भेजा है। जिसमें ये लिखा है कि अय्यर फिट हैं। हालांकि, अय्यर के एक करीबी सूत्र ने ये बताया किया कि बल्लेबाज को "पीठ की समस्या की शिकायत के बाद एहतियातन पिछले तीन टेस्ट मैचों के लिए भारत की टीम से बाहर रखा गया था।

एनसीए ने ईमेल में बताया श्रेयस हैं फिट
सूत्र ने कहा,"नितिन पटेल ने बीसीसीआई को ईमेल इंग्लैंड के खिलाफ दूसरे टेस्ट के बाद लिखा था। तब से ही,पीठ की समस्या ने अय्यर को परेशान कर रखा है। उन्होंने जोर देकर कहा,"अय्यर पिछले साल भारत में वनडे विश्व कप में भारत के शीर्ष प्रदर्शन करने वाले बल्लेबाजों में से एक थे। वह केवल इसलिए अनुबंध नहीं खो देंगे क्योंकि वह रणजी ट्रॉफी मैच नहीं खेले।"

बीसीसीआई सचिव जय शाह ने पिछले हफ्ते सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल भारतीय खिलाड़ियों के साथ ही इंडिया-ए के प्लेयर्स को चेतावनी दी थी कि मौजूदा रणजी ट्रॉफी में अगर खिलाड़ी जानबूझकर हिस्सा नहीं लेंगे तो इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा और खिलाड़ी के खिलाफ किसी भी तरह का एक्शन लेने के लिए चीफ सेलेक्टर को बोर्ड की तरफ से खुली छूट दी जाएगी। 

श्रेयस को तीन करोड़ रुपये मिलते हैं
बता दें कि पिछले साल जारी सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में श्रेयस अय्यर बी ग्रेड में जबकि ईशान किसन सी ग्रेड में थे। बतौर रिटेनरशिप फीस श्रेयस को सालाना 3 करोड़ और ईशान को एक करोड़ रुपये मिलते हैं। 

jindal steel Ad
5379487