Logo
election banner
Jay shah Letter To Central Contracted Players: बीसीसीआई सचिव जय शाह ने सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल खिलाड़ियों को चिठ्ठी लिखकर ये चेतावनी दी है कि अगर वो घरेलू रेड बॉल क्रिकेट को नजरअंदाज करेंगे तो उन्हें गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

नई दिल्ली। बीसीसीआई के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल खिलाड़ियों के घरेलू रेड-बॉल क्रिकेट को तरजीह नहीं देना बीसीसीआई को रास नहीं आ रहा है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड के सचिव जय शाह ने केंद्रीय अनुबंध में शामिल शीर्ष खिलाड़ियों को चिठ्ठी लिखकर चेतावनी दी है कि अभी भी टीम इंडिया में सेलेक्शन का पैमाना घरेलू क्रिकेट ही है। अगर खिलाड़ियों ने इसे नजरअंदाज किया तो फिर उसके गंभीर नतीजे भुगतने को तैयार रहें। 

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक जय शाह ने जिन खिलाड़ियों को ये चिठ्ठी लिखी है, इसमें सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल खिलाड़ियों के अलावा, इंडिया-ए की तरफ से लगातार खेल रहे प्लेयर्स भी शामिल हैं। बीसीसीआई सचिव की तरफ से खिलाड़ियों को ऐसी चिठ्ठी इसलिए लिखनी पड़ी कि लगातार ये देखने में आ रहा था सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल खिलाड़ी घरेलू रेड बॉल क्रिकेट पर आईपीएल तरजीह दे रहे थे और बीसीसीआई के लिए चिंता का सबब बना हुआ था। 

खिलाड़ी घरेलू क्रिकेट पर आईपीएल को प्राथमिकता दे रहे: शाह
जय शाह की तरफ से लिखी गई चिठ्ठी में कहा गया है, "हाल ही में ऐसा देखने में आया है कि कुछ खिलाड़ियों ने घरेलू क्रिकेट पर आईपीएल को प्राथमिकता देना शुरू कर दिया है, जिसकी उम्मीद नहीं थी। घरेलू क्रिकेट हमेशा वह आधार रहा है जिस पर भारतीय क्रिकेट खड़ा है, और खेल के प्रति हमारे दृष्टिकोण में इसे कभी भी कम महत्व नहीं दिया गया है।"

'घरेलू रेड-बॉल क्रिकेट छोड़ने के गंभीर नतीजे भुगतने होंगे'
उन्होंने ये भी लिखा, "घरेलू क्रिकेट भारतीय क्रिकेट की रीढ़ है और इससे निकलने वाले खिलाड़ी ही टीम इंडिया में आते हैं। भारतीय क्रिकेट के लिए शुरू से ही हमारी सोच साफ रही है कि जो भी क्रिकेटर भारत के लिए खेलने की इच्छा रखता है, उसे घरेलू क्रिकेट में खुद को साबित करना होगा। टीम इंडिया में सेलेक्शन के लिए घरेलू क्रिकेट में प्रदर्शन सबसे अहम पैमाना है और अगर कोई घरेलू क्रिकेट में हिस्सा नहीं लेता है तो फिर उसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।"

यह भी पढ़ें: VIDEO: जसप्रीत बुमराह के सामने रूट की होशियारी नहीं चली, यशस्वी जायसवाल के 'रॉकेट कैच' से 21 पारियों में 9वीं बार किया शिकार

पत्र में "हमारे घरेलू क्रिकेट के स्वास्थ्य और स्थिति" के बारे में बोर्ड की चिंताओं को साझा किया गया है। जय शाह ने लिखा कि बीसीसीआई को आईपीएल की लोकप्रियता और सफलता पर गर्व है। लेकिन, खिलाड़ियों को घरेलू रेड बॉल क्रिकेट को प्राथमिकता देनी होगी और ये समझना होगा कि भारत के लिए अगर खेलना है तो ये पहली सीढ़ी है। 

यह भी पढ़ें: Ishan Kishan vs BCCI: क्या ईशान किशन कर रहे BCCI से बगावत? जय शाह की चेतावनी के बाद भी रणजी ट्रॉफी में नहीं उतरे

ये चिठ्ठी ईशान किशन समेत उन खिलाड़ियों के इस कदम के बाद आया है, जिन्होंने फिट रहने और आईपीएल 2024 की तैयारी के लिए मौजूदा रणजी ट्रॉफी में खेलने के बीसीसीआई के निर्देश को नजरअंदाज कर दिया। किशन के साथ ही श्रेयस अय्यर और दीपक चाहर जैसे खिलाड़ी भी रणजी ट्रॉफी के फाइनल राउंड के मुकाबले खेलने के लिए नहीं उतरे हैं। 

jindal steel
5379487