Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लोकसभा चुनाव 2019 : 5 साल में पीएम मोदी ने क्या किया, ये रही पूरी रिपोर्ट

देश में लोकसभा चुनावों के यूँ पांच चरण पूरे हो चुके हैं। अब 12 मई और 19 मई को दो चरणों में कुल 118 सीटों पर मतदान होना शेष है। लेकिन इस चुनाव में यह साफ़ है कि यह पूरा चुनाव प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के इर्द गिर्द ही लड़ा जा रहा है।कोई मोदी के पक्ष में होकर हर हाल में उन्हें फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए अपनी ताकत झोंक रहा है और कोई इस बात पर अड़ा है कि मोदी को हटाना है।

लोकसभा चुनाव 2019 : 5 साल में पीएम मोदी ने क्या किया, ये रही पूरी रिपोर्ट
X

देश में लोकसभा चुनावों के यूँ पांच चरण पूरे हो चुके हैं। अब 12 मई और 19 मई को दो चरणों में कुल 118 सीटों पर मतदान होना शेष है। लेकिन इस चुनाव में यह साफ़ है कि यह पूरा चुनाव प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के इर्द गिर्द ही लड़ा जा रहा है।कोई मोदी के पक्ष में होकर हर हाल में उन्हें फिर से प्रधानमंत्री बनाने के लिए अपनी ताकत झोंक रहा है और कोई इस बात पर अड़ा है कि मोदी को हटाना है।

जो लोग मोदी सरकार को फिर से लाने के लिए दिल-ओ-जान से जुटे हैं वे मोदी के पांच साल के काम से बेहद खुश हैं।वे चाहते हैं देश सुरक्षित हाथों में रहे, दुश्मन हमारे देश की ओर आँख उठाने की हिम्मत न कर सके, देश के विकास की गति ज़रा भी न रुके, सभी जाति-धर्मों के लोगों को बिना किसी भेद भाव आगे बढ़ने और सुख शान्ति के साथ रहने के सामान अवसर प्राप्त हों।उधर जो मोदी को हटाने में लगे हैं, उनमें कोई लोकतंत्र खतरे में है तो कोई मोदी को तानाशाह और कोई कहता है मोदी ने कुछ किया ही नहीं।जबकि कांग्रेस अध्यक्ष तो सुप्रीम कोर्ट से माफ़ी मांगने के बावजूद 'चौकीदार चोर है' का बेसुरा और महाझूठा राग आलापने में ही लगे हैं।

लोगों को सबसे ज्यादा गुमराह करने वाली बात तो यह है कि मोदी लोकतंत्र के लिए खतरा हैं।यहाँ सवाल यह है कि मोदी ने अपने 5 बरसों के पिछले शासनकाल में ऐसा क्या किया जिससे लोकतंत्र को खतरा हो गया ? क्या मोदी ने इंदिरा गांधी की तरह विपक्ष के नेताओं को जेल में बंद कर दिया,मीडिया पर सेंसरशिप लगा दी ? देखा जाए नेताओं और मीडिया को ही नहीं आमजन को भी बोलने-लिखने की जो आज़ादी मोदी युग में मिली है उतनी पहले कभी नहीं मिली।

राहुल गांधी,प्रियंका वाड्रा,केजरीवाल से लेकर ममता,महबूबा,माया,अखिलेश और सिद्धू सहित मीडिया के भी कुछ लोग मोदी पर किस तरह अपनी भड़ास निकालते हैं यह आये दिन देखा,सुना जा सकता है।जबकि ममता बनर्जी जैसी तानाशाह मुख्यमंत्री,जय श्रीराम कहने पर या कोई पत्रकार ममता के खिलाफ कार्टून भी बना दे तो वह उसे जेल भेज देती हैं।यहाँ तक बौखलाई ममता पीएम मोदी को बेहद अपशब्द कहने में सारी हदें पार कर गई हैं।चुनावों में भी उनकी पार्टी के कार्यकर्ता हिंसा और आगजनी करके स्वतंत्र चुनावों में जो बाधा डाल रहे हैं, यह भी किसी से छिपा नहीं। फिर भी विपक्ष ममता को तानाशाह नहीं कहता।

पीएम मोदी के काम की बात करें तो उन्होंने पिछले 5 बरसों में जो काम किये हैं उतने काम किसी और पीएम ने कभी नहीं किये। नरेन्द्र मोदी देश के ऐसे पहले पीएम हैं जिन्होंने एक भी अवकाश नहीं लिया और होली-दीवाली भी अपने परिवार के साथ नहीं,भारतीय सेना के जाबांज सैनिकों के साथ मनाई।देश में लगातार विकास के साथ विश्व में भारत का मान-सम्मान भी इतना बढ़ा है कि भारत विश्व शक्ति के रूप में तेजी से उभर रहा है।आज वैश्विक मंच पर भारत की बात को पूरी अहमियत दी जाती है। मोदी की एक आवाज़ पर विश्व में योग दिवस मनाया जाने लगा। मोदी के आतंकवाद के विरुद्द अभियान में भी दुनिया आज भारत के साथ खड़ी है।तभी भारत संयुक्त राष्ट्र में कुख्यात आतंकवादी मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करवा सका।तभी एयर स्ट्राइक के बाद हमारे वीर सैनिक अभिनन्दन की एक ही दिन में स्वदेश वापसी हो सकी।साथ ही सर्जिकल और एयर स्ट्राइक से भारत ने पाकिस्तान में घुसकर जिस तरह उन्हें सबक सिखाया है वह सब भी मोदी की नीतियों का सुफल है।

सेना के मनोबल बढ़ाने और सेना को सुविधाएँ देने में भी मोदी सरकार ने बहुत कुछ किया है।वहां पाकिस्तान को मुंह तोड़ जवाब देने और कश्मीर में पत्थरबाजों को सबक सीखाने के लिए भी सेना को खुली छुट दी हुई है।सेना को 'वन रैंक वन पेंशन' और भीषण सर्दी-गर्मी से बचाव के लिए आधुनिक पोशाकें और हथियार देने में भी मोदी सरकार ने देर नहीं की। फिर मोदी ने इंडिया गेट पर शहीदों की स्मृति में भव्य 'राष्ट्रीय युद्द स्मारक' बनवाकर भी महान कार्य किया है।

इधर जहाँ पहले आए दिन देश में मंदिर,बाज़ार,बस या रेलवे स्टेशन पर आतंकवादी बम विस्फोट करके निर्दोषों की जान लेते रहते थे।लेकिन पिछले 5 साल में कश्मीर के अलावा देश में कहीं भी ऐसी आतंकवादी घटना का न होना मोदी सरकार की बड़ी सफलता है।

मोदी सरकार ने जहाँ पांच लाख रूपये की आय को कर मुक्त करके सभी को बड़ी राहत दी है। वहां बरसों से चूल्हे पर धुंए और तपस में खाना बनाने को मजबूर 7 करोड़ महिलाओं को गैस कनेक्शन देने और शौच के लिए खुले में जाने को विवश लोगों के लिए करीब 9 करोड़ शौचालय बनवाने का मुश्किल काम मोदी से ही मुमकिन हुआ है। स्वच्छता अभियान में वाराणसी जैसे तीर्थ स्थलों का कायापलट और प्रयागराज में बेहद सफल कुम्भ तो बेमिसाल हैं।

नरेन्द्र मोदी ने देश के हर गाँव में बिजली पहुंचाने के साथ सभी पूर्वोत्तर राज्यों को रेल से जोड़ने और वहां विश्व का सबसे ऊँचा पुल बनाने की जो पहल की है,उसके शानदार परिणाम भी जल्द देखने को मिलेंगे। कश्मीर में सबसे लम्बी सड़क सुरंग हो या ब्रह्मपुत्र नदी पर सवा 9 किमी का सबसे लम्बा हजारिका पुल और वहीँ देश का सबसे चौड़ा और एशिया का दूसरा सबसे बड़ा रेलरोड ब्रिज बोगीबील भी मोदी सरकार की अविस्मर्णीय उपलब्धि हैं।

ऐसे ही मोदी राज में जहाँ 33 करोड़ लोगों के बैंक खाते खोलकर और 32 करोड़ एलईडी बल्ब वितरित कर नया कीर्तिमान बना।वहां आयुष्मान योजना के तहत 5 लाख रूपये तक के मुफ्त इलाज से गरीबों में आशा की किरण जगी।देश में जहाँ पहले दिल्ली में ही एक एम्स अस्पताल होता था वहां देश में अब 7 एम्स कार्यरत हैं।जबकि 12 नए एम्स का निर्माण चल रहा है।

साथ ही उड़ान योजना से हवाई चप्पल वालों के लिए भी हवाई जहाज में सफ़र करना संभव हुआ तो सिर्फ 5 साल में ही 35 नए हवाई अड्डे बनने से देश में कई नए हवाई मार्ग खुले। नए सड़क मार्ग यहाँ तक जल मार्ग भी खुल गए हैं।पिछली सरकार में जहाँ प्रतिदिन 12 किमी राजमार्ग का निर्माण होता था वहां मोदी सरकार में प्रतिदिन 27 किमी निर्माण हुआ और दो करोड़ नए मकानों का भी। मुद्रा योजना, कौशल योजना, मेक इन इंडिया आदि से निजी क्षेत्र में भी रोजगार के करोड़ों नए अवसर प्राप्त हुए।भारत में निवेश भी बढ़ा और बहुत से नए आईआईटी,आईआईएम और केंद्रीय विद्यालय खुलने से शिक्षा के क्षेत्र में भी बहुत प्रगति हुई है।

पिछले 5 बरसों में मोदी सरकार जहाँ महंगाई पर लगाम लगाने में सफल हुई,वहां भारतीय अर्थव्यवस्था सबसे तेजी से बढते हुए विश्व की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गयी है।इस दौरान औसत जीडीपी वृद्धि की दर 7।3 प्रतिशत हो गयी।यह वृद्धि दर सन 1991 के बाद की सभी सरकारों से अधिक है।फिर फसल बीमा और किसान पेंशन योजना आदि सहित किसानों की आय दुगनी करने का लक्ष्य जैसे कार्य किसानों के लिए बड़ी राहत हैं।

मोदी सरकार की एक बड़ी उपलब्धि डिजिटल इंडिया है। जिससे अधिकांश कार्य डिजिटल होने से भ्रष्टाचार तो कम हुआ ही,भाग दौड़ से राहत और समय की बचत भी हुई है।ऐसे में कोई कहे मोदी ने किया ही क्या है तो उसे क्या कहें ? पांच साल में और क्या चाहिए एक मोदी से !

लेखक - वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप सरदाना

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story
Top