Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

असदुद्दीन ओवैसी ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक की कॉपी फाड़ी

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल को पेश कर दिया है। इस दौरान शाह ने कहा कि बिल पर चर्चा हो सकती है लेकिन इसके मेरिट पर नहीं। बिल पर विपक्ष को बोलने का मौका दूंगा।

असदुद्दीन ओवैसी ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक की कॉपी फाड़ी
X

संसद का शीतकालीन सत्र जारी है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को लोकसभा में नागरिकता (संशोधन) विधेयक पेश कर दिया है। इस बिल से पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से गैर-मुस्लिम शरणार्थियों के लिए भारतीय नागरिकता जल्द मिल सकेगी।

संसद लाइव अपडेट (Parliament Live Update)

लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 पर चर्चा के दौरान एआईएमआईएम के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने नागरिकता संशोधन विधेयक की कॉपी फाड़ी दी है। इस दौरान उन्होंने कहा कि यह हिटलर के कानून से भी बदतर है। यह हिंदुस्तान को तोड़ने की कोशिश है।

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने नागरिकता संशोधन बिल पर कहा कि यदि किसी पीड़ित समुदाय को शरण दे रहे हैं तो हम इसका विरोध नहीं कर रहे हैं। लेकिन हमारा विरोध इस बात का है कि इसका मानदंड धर्म को बनाया जा रहा है। इसे बदलना चाहिए।

समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन ने नागरिकता संशोधन बिल का विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि इस बिल के कारण मुस्लिमों के मन में डर का माहौल पैदा हुआ है।

तेलंगाना राष्ट्र समिति के नेता नाम नागेश्वर राव नागरिकता संशोधन बिल पर कहा कि हम अपनी धर्मनिरपेक्ष पार्टी नीति के अनुरूप नागरिकता संशोधन 2017 का विरोध करते हैं। हम भारतीय संविधान के प्रावधानों और भावना का कड़ाई से पालन करते हैं।

बहुजन समाज पार्टी से सांसद अफजल अंसारी ने नागरिकता संशोधन बिल को लेकर कहा कि इस्लाम को मानने वालों को स्वीकार नहीं किया जाएगा और दूसरे धर्म को मानने वाले लोगों को इस देश में स्वीकार कर लिया जाएगा तो यह काफी विभाजनकारी है।

एनसीपी नेता सुप्रिया सुले ने नागरिकता संशोधन बिल का विरोध किया है। उनका कहना है कि इस बिल को वापस लेना चाहिए।

नागरिकता संशोधन बिल पर चर्चा के दौरान अभिषेक बनर्जी ने कहा कि यदि इस बिल को भारत के अपने विचार के खिलाफ देखा जाए तो स्वामी विवेकानंद को बहुत धक्का लगेगा। भाजपा का भारत का विचार विभाजनकारी है। अगर हम महात्मा गांधी के शब्दों को नजरअंदाज करेंगे और सरदार पटेल की सलाह पर ध्यान नहीं देंगे तो यह विनाशकारी होगा।

खड़गपुर में पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि सीएबी (नागरिकता संशोधन विधेयक) से डरें नहीं। हम तुम्हारे साथ हैं। जब तक हम यहां हैं कोई भी आप पर कुछ भी थोप नहीं सकता।

नागरिकता संशोधन विधेयक पर मणिपुर के शिक्षा मंत्री थोकचोम राधेश्याम सिंह ने कहा कि पहले से ही, हमें सूचित किया गया है कि मणिपुर राज्य के लिए एक सुरक्षा खंड है। गृह मंत्री द्वारा खंड का आश्वासन दिया गया है, इसलिए हमें चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। यह नागरिकों की बेहतरी के लिए है।

भाजपा महासचिव राम माधव ने नागरिकता संशोधन विधेयक पर कहा कि यह बिल सताए गए अल्पसंख्यकों के लिए है जो भारत में आ गए हैं। यदि वे यहां कम से कम 5 वर्ष के लिए रहे हैं, तो वे भारतीय नागरिकता का दावा कर सकते हैं। हम श्रीलंका और पाकिस्तान के शरणार्थियों सहित कई लोगों को शरणार्थी का दर्जा प्रदान करने के लिए खुले हैं।

कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी ने कहा कि नागरिकता बिल का विरोध किया है। लोकसभा में मनीष तिवारी ने कहा कि यह बिल भारतीय संविधान के अनुच्छेद 14, अनुच्छेद 15, अनुच्छेद 21, अनुच्छेद 25 और 26 के खिलाफ है। यह विधेयक असंवैधानिक है और समानता नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 के मूल अधिकार के खिलाफ है।

लोकसभा में चर्चा के बाद शस्त्र संशोधन विधेयक 2019 पास।

लोकसभा में टीएमसी सांसद सौगत रॉय ने कहा कि यह विधेयक विभाजनकारी और असंवैधानिक है, यह संविधान के अनुच्छेद 14 का उल्लंघन करता है। यह कानून डॉ अम्बेडकर सहित हमारे संस्थापकों की हर चीज के खिलाफ है।

आम आदमी पार्टी (AAP) ने संसद में नागरिकता संशोधन विधेयक 2019 बिल का विरोध किया।

रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी के सांसद एन के प्रेमचंद्रन ने कहा कि विधेयक प्रस्तावना में संविधान की मूल संरचनात्मक विशेषताओं का उल्लंघन करता है क्योंकि धर्म पर आधारित नागरिकता का अधिकार देश के धर्मनिरपेक्ष ताने-बाने के खिलाफ है।

संशोधित बिल पर चर्चा के दौरान औवेसी ने कहा कि मुस्लिम भी इस देश का हिस्सा हैं, उन्हें ऐसे कानूनों से बचाएं गृह मंत्री

नागरिकता संशोधन बिल पर संसद में चर्चा शुरू, लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि ये बिल अल्पसंख्यकों के खिलाफ

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश करने के बाद कहा कि बिल पर चर्चा हो सकती है लेकिन इसके मेरिट पर नहीं। बिल पर विपक्ष को बोलने का मौका दूंगा। ये बिल अल्पसंख्यकों के लिए नहीं है।

लोकसभा में भाजपा ने 6 दिसंबर को सदन में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के साथ कथित कदाचार के लिए कांग्रेस के दो सांसदों से माफी की मांग की है।

असम के गोलाघाट में नागरिकता के खिलाफ लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल किया पेश

अमित शाह ने कहा कि सभा को बाधित करने की अनुमति नहीं, अधीर रंजन चौधरी से मांफी मांगने पर अड़ी भाजपा

ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट का जंतर मंतर पर नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ आंदोलन

लोकसभा में कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने एजुकेशन लोन पर कहा कि ​​बेरोजगारी दर आज 45-साल की उच्च पर है। वर्तमान आर्थिक मंदी, सरकार केंद्रीय डेटाबेस को बनाए रखने पर विचार करेगी।

भारतीय जनता पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद विजय गोयल ने दिल्ली में आग लगने की घटना का मुद्दा उठाया। बीते दिन अनाज मंडी में 43 लोगों की शॉर्ट सर्किट की वजह से मौत हो गई थी।

नागरिकता आंदोलन के खिलाफ विभिन्न संगठनों का असम में बंद का ऐलान, गुवाहाटी में कई दुकानें हुईं बंद

असम से लोकसभा सांसद बदरुद्दीन अजमल ने कहा कि यह विधेयक संविधान के विरुद्ध और हिंदू-मुस्लिम एकता के खिलाफ है। हम इस विधेयक को खारिज कर देंगे और विपक्ष इस पर हमारे साथ है। हम इस विधेयक को पारित नहीं होने देंगे।

अमित शाह संसद पहुंचे, नागरिकता संशोधन विधेयक को थोड़ी देर में लोकसभा में करेंगे पेश

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग पार्टी के सांसदों ने संसद परिसर में महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने धरना दिया

टीएमसी सांसद संतनु सेन ने राज्यसभा में पश्चिम बंगाल राज्य का नाम बदलकर बंगाल करने पर शून्यकाल नोटिस दिया

त्रिपुरा में नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ आंदोलन

बीजेपी सांसद हरनाथ सिंह यादव ने भारतीय सेना में अहीर रेजिमेंट स्थापित करने की मांग को लेकर राज्यसभा में शून्यकाल नोटिस दिया

लोकसभा में बिल पेश होने के दौरान विपक्ष हंगामा भी कर सकता है।

आज अमित शाह पेश करेंगे नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा में पेश

2014 से पहले रहने वालों के लिए खुल जाएंगे दरवाजे

बिल में हिंदुओं, सिखों, बौद्धों, जैनियों, पारसियों और ईसाइयों को नागरिकता देने का प्रस्ताव है। अगर वो 31 दिसंबर 2014 को या उससे पहले तीन देशों से भारत में दाखिल हुए है तो वो भारत के नागरिक बन सकते हैं। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने सत्तारूढ़ भाजपा के एक प्रमुख चुनावी वादे को पूरा करते हुए पिछले हफ्ते विधेयक को मंजूरी दे दी, लेकिन कई विपक्षी दलों ने कहा कि वे मसौदा विधेयक का विरोध करना जारी रखते हैं, उन्होंने कहा कि उन्होंने नागरिकता को धर्म से जोड़ा और इसलिए संविधान का उल्लंघन किया।

कांग्रेस के संसदीय रणनीति समूह ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर एक बैठक की और संसद में बिल के खिलाफ जोरदार विरोध करने का फैसला किया। कांग्रेस के नेता और लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने बैठक के बाद कहा कि कांग्रेस संसद में नागरिकता संशोधन बिल के दांत और नाखून का विरोध करेगी क्योंकि यह देश के संविधान, धर्मनिरपेक्ष लोकाचार, परंपरा, संस्कृति और सभ्यता के खिलाफ है।

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story