Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haribhoomi-Inh News: 'चक्रव्यूह में अभिमन्यु' जेसीसीजे नेता धर्मजीत सिंह, 'चर्चा' प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा चक्रव्यूह में अभिमन्यु....

Haribhoomi-Inh News: चक्रव्यूह में अभिमन्यु जेसीसीजे नेता धर्मजीत सिंह, चर्चा प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ
X

Haribhoomi-Inh News: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम 'चर्चा' में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने शुरुआत में कहा कि नमस्कार आपका स्वागत है हमारे खास कार्यक्रम चर्चा चक्रव्यूह में अभिमन्यु.... आज हमारी बातचीत के केंद्र में ऐसी शख्सियत है, जिसने न केवल अपनी पार्टी के बीच में ही अपने दोस्तों की संख्या बेशूमार रखी।

बल्कि विरोधियों के स्तर पर भी दोस्तों को लेकर लोग अचंभा करते रहे। इन्होंने अपने राजनीतिक जीवन में जो भी ऊंचाई ली वह खुद के प्रयासों से, खुद के परिश्रम से, पराक्रम से ली। लेकिन इसके बावजूद भी। वह अब उलझे उलझे से दिखाई दे रहे हैं। यह स्थिति इसलिए क्योंकि जिस पार्टी से इन्होंने अपना राजनीतिक करियर शुरू किया। वर्तमान में वह उसी पार्टी की खिलाफत के खिलाफ राजनीति कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ के नामचीन सियासतदारों में शुमार धर्मजीत सिंह ठाकुर की स्थिति न खुद मिला न बिसाले सनम वाली हो गई है। कभी कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे धर्मजीत सिंह ने कांग्रेस की अंतर्कलह में हमेशा अजीत जोगी का साथ दिया।

जोगी ने नई पार्टी बनाई तो धर्मजीत सिंह उनके साथ हो लिए। वे पार्टी के टिकट पर विधायक भी बने और सदन में विधायक दल के नेता भी बनाए गए। लेकिन उनका ग्राफ ऊपर नहीं उठा। अजीत जोगी के निधन के बाद उनका सियासी वजूद और कमजोर पड़ गया। वे सियासत के चक्रव्यूह में उलझ गए हैं इसी पर देखिए हमारी खास पेशकश....

यहां देखें पूरा कार्यक्रम

और पढ़ें
Next Story