Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Eid-E-Milad-Un-Nabi 2021: राष्ट्रपति ने ट्वीट कर दी देशवासियों को बधाई, जानें क्यों मनाते हैं ईद-ए-मिलाद-उन-नबी

आज ईद-ए-मिलाद-उन-नबी (Eid-Milad-Un-Nabi-Eid) या ईद-ए-मिलाद (Eid-Ul-Milad) का त्योहार मनाया जा रहा है। इस खास मौके पर देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) ने देशवासियों को इस त्योहार पर बधाई दी है।

Eid-E-Milad-Un-Nabi 2021: राष्ट्रपति ने ट्वीट कर दी देशवासियों को बधाई, जानें क्यों मनाते हैं ईद-ए-मिलाद-उन-नबी
X

Eid-E-Milad-Un-Nabi 2021: देश में 19 अक्टूबर को ईद-ए-मिलाद-उन-नबी (Eid-Milad-Un-Nabi-Eid) या ईद-ए-मिलाद (Eid-Ul-Milad) का त्योहार मनाया जा रहा है। इस खास मौके पर देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ram Nath Kovind) ने देशवासियों को इस त्योहार पर बधाई दी है। ऐसा कहा जाता है कि आज ही के दिन पैगंबर हजरत मुहम्मद का जन्म हुआ था। उन्हें इस्लाम धर्म का संस्थापक कहा जाता है। उनके बाद ही इस्लाम धर्म आया था।

राष्ट्रपति ने दी बधाई

ईद-ए-मिलाद-उन-नबी के मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम मोदी समेत कई सीएम और राजनीतिक दलों ने देशवासियों को बधाई दी और राष्ट्रपति ने ट्वीट कर कहा कि ईद-ए-मिलाद-उन-नबी के पावन अवसर पर पैगंबर मुहम्मद का जन्मदिन है. , मैं सभी देशवासियों, विशेषकर हमारे मुस्लिम भाइयों और बहनों को बधाई देता हूं। आइए हम सभी पैगंबर मुहम्मद के जीवन से प्रेरणा लें और समाज की समृद्धि के लिए और देश में शांति और खुशी बनाए रखने के लिए काम करें।




ईद-ए-मिलाद-उन-नबी क्यों मनाई जाती है?

इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक, इस्लाम के तीसरे महीने रबी-अल-अव्वल की 12वीं तारीख 571 ईसवीं है। उसी दिन मोहम्मद साहब का जन्म हुआ। पैगंबर मुहम्मद द्वारा दिए गए पवित्र संदेशों सभी मुसलमान इसको पढ़ते हैं। पैगंबर हजरत मोहम्मद के जन्म की खुशी में मुसलमान ईद-ए-मिलाद-उन-नबी मनाते हैं। इस दिन रात भर इबादत चलती है। जुलूस निकाले जाते हैं। सुन्नी मुसलमान इस दिन हजरत मोहम्मद के पवित्र शब्दों को पढ़ते और याद करते हैं। वहीं शिया मुसलमान मोहम्मद को अपना उत्तराधिकारी मानते हैं। हजरत मुहम्मद का जन्मदिन ईद-ए-मिलाद-उन-नबी के रूप में हर साल मनाया जाता है और उन्हें याद किया जाता है।

और पढ़ें
Next Story