Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

PM Modi की अध्यक्षता में 'वन नेशन, वन इलेक्शन' पर बैठक समाप्त, नहीं पहुंची 14 पार्टियां

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बैठक में आने से पहले अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा कि किसी भी लोकतांत्रिक देश में चुनाव कभी कोई समस्या नहीं हो सकती है और न ही चुनाव को कभी धन के व्यय-अपव्यय से तौलना उचित है। देश में 'एक देश, एक चुनाव' की बात वास्तव में गरीबी, महंगाई, बेरोजबारी, बढ़ती हिंसा जैसी ज्वलन्त राष्ट्रीय समस्याओं से ध्यान बांटने का प्रयास व छलावा मात्र है।

PM ModiPM Modi

देश में वन नेशन, वन इलेक्शन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अहम बैठक संसद भवन में जारी समाप्त हो गई है। इस बैठक में एक देश एक चुनाव, आजादी के 75 साल, महात्मा गांधी की 150वीं जयंती जैसे मुद्दों पर चर्चा की गई। पीएम की सर्वदलीय बैठक में अमित शाह, राजनाथ सिंह, जेपी नड्डा, शरद पवार, नीतीश कुमार और राम विलास पासवान पहुंच के अलावा अन्य नेता भी मौजूद रहे। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस ने इस सर्वदलीय बैठक का बहिष्कार किया। इसके अलावा ममता बनर्जी, चंद्र बाबू नायडू और एमके स्टालिन शामिल नहीं हुईं।

लाइन अपडेट (Live Update)

पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में संसद में आयोजित राजनीतिक दलों के प्रमुखों की बैठक समाप्त हो गई है।

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) सीपीएम ने 'एक राष्ट्र, एक चुनाव' के प्रस्ताव का विरोध किया है।

'एक राष्ट्र, एक चुनाव' पर चल रही पीएम मोदी की बैठक में 14 पार्टियां नहीं पहुंची हैं। एनडीए की सहयोगी रही शिवसेना भी पीएम मोदी की इस बैठक में नहीं पहुंची है।

'एक राष्ट्र, एक चुनाव' पर चल रही पीएम मोदी की बैठक की बैठक में कांग्रेस, टीएमसी, टीडीपी, आम आदमी पार्टी, एआईएडीएमके, डीएमके, एसपी, बीएसपी, शिवसेना, आरजेडी, जेडीएस, झारखंड मुक्ति मोर्चा, एआईयूडीएफ और आईयूएमएल नहीं पहुंची हैं।

सीएम नवीन पटनायक ने 'एक राष्ट्र, एक चुनाव' के विचार का समर्थन किया।

समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि उन्हें लोगों से किए गए वादों पर ध्यान देना चाहिए, हमें उम्मीद है कि वे उन वादों को पूरा करने के ज्यादा जोर देंगे और अधिक काम करेंगे। वन नेशन वन इलेक्शन जैसे निर्णय पर कई दल हैं जो इसके लिए कभी सहमत नहीं होंगे।

सर्वदलीय बैठक में एनसीपी चीफ शरद पवार और ओवैसी भी पहुंचे हैं।

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बैठक में आने से पहले अपने ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा कि किसी भी लोकतांत्रिक देश में चुनाव कभी कोई समस्या नहीं हो सकती है और न ही चुनाव को कभी धन के व्यय-अपव्यय से तौलना उचित है। देश में 'एक देश, एक चुनाव' की बात वास्तव में गरीबी, महंगाई, बेरोजबारी, बढ़ती हिंसा जैसी ज्वलन्त राष्ट्रीय समस्याओं से ध्यान बांटने का प्रयास व छलावा मात्र है।

एक देश एक चुनाव में लोकसभा और विधानसभा के चुनावों को एक साथ करवाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का समर्थन मिल गया है। लेकिन कुछ दल इसके विरोध में हैं।

पीएम मोदी की सर्वदलीय बैठक में बसपा सुप्रीमो मायावती, सपा प्रमुख अखिलेश यादव भी शामिल नहीं हुए हैं।

एक देश एक चुनाव को लेकर पीएम मोदी की अध्यक्षता में बैठक शुरू

जेपी नड्डा और शरद पवार भी बैठक के लिए पहुंचे।

नीतीश कुमार, राम विलास पासवान भी पहुंचे।

जानें कौन आ रहा बैठक में

जनता दल (सेक्यूलर)

एनसीपी (शरद पवार)

अकाली दल (सुखबीर बादल)

जनता दल (यूनियन)

YSR कांग्रेस (जगन रेड्डी)

बीजद (नवीन पटनायक)

केसीआर (उनके बेटे केटीआर शामिल होंगे)

आम आदमी पार्टी (अरविंद केजरीवाल नहीं आएंगे, राघव चड्डा आएंगे)

लेकिन एमके स्टालिन (डीएमके) और उद्धव ठाकरे (शिवसेना) पार्टी के नेता जरूरी काम की वजह से पार्टी में शामिल नहीं हो पा रहे हैं।

जानें कौन नहीं आ रहा बैठक में

कांग्रेस

चंद्रबाबू नायडू (टीडीपी)

ममता बनर्जी (टीएमसी)

मायावती (बीएसपी)

अखिलेश यादव (एसपी)

Share it
Top