Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

महाराष्ट्र के 6 जिलों में डेल्टा प्लस वेरिएंट के 21 मरीज, स्वास्थ्य मंत्री टोपे का बड़ा बयान आया सामने

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, देश में अब तक डेल्टा प्लस के 40 मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें महाराष्ट्र, केरल और मध्य प्रदेश राज्य हैं।

दुर्ग से कम कोरोना रायपुर जिले में, 11 पॅाजिटिव, आठ राजधानी में मिले
X

कोरोना वायरस (प्रतीकात्मक फोटो)

देश में डेल्टा प्लस वेरिएंट के नए मामलों के मिलने का सिलसिला शुरू हो गया है। बीते एक दिन पहले इस वेरिएंट के 22 मामले सामने आए थे, लेकिन आज बुधवार को 44 मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र राज्य प्रभावित है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, देश में अब तक डेल्टा प्लस के 40 मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें महाराष्ट्र, केरल और मध्य प्रदेश राज्य हैं। इन राज्यों को केंद्र सरकार की तरफ से अलर्ट रहने के लिए दिशानिर्देश भी जारी कर दिए हैं। महाराष्ट्र में डेल्टा प्लस वेरियंट से संक्रमित 21 मरीज मिले। जबकि 7,500 सैम्पल्स जांच के लिए भेजा गया।

इसी बीच महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि डेल्ट प्लस वेरिएंट को देखते हुए हर जिले से 100-100 सैंपल लिए जा रहे हैं। 15 मई से आज तक इकट्ठे किए गए 7,500 सैंपल में से अभी तक डेल्टा प्लस वेरिएंट के करीब 21 मामले आए हैं। मैंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि डेल्टा प्लस वैरिएंट के मामलों की बारीकी से निगरानी की जाए।

जानकारी के लिए बता दें कि डेल्टा वेरिएंट 80 देशों में मिल चुका है तो वहीं दूसरी तरफ 9 देशों में अब तक डेल्टा प्लस वेरिएंट मिल चुका है। इन देशों में ब्रिटेन, चीन, रूस, अमेरिका, जापान, पुर्तगाल, स्विटजरलैंड, नेपाल और भारत जैसे देश हैं। यहां ये वेरिएंट मिला है। अब तक भारत के 3 राज्यों में डेल्टा प्लस के 22 मामले आ चुके हैं। सरकार ने इस वेरिएंट को लेकर कहा कि अभी इसेवेरिएंट ऑफ इंटरेस्ट की श्रेणी में रखा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने डेल्टा प्लस वेरिएंट पर महाराष्ट्र, केरल और मध्य प्रदेश को सलाह दी है। राज्यों को तत्काल रोकथाम के उपाय, उन्नत परीक्षण, ट्रैकिंग और टीकाकरण उन जिलों और समूहों में करना चाहिए, जहां डेल्टा प्लस वेरिएंट पाया जाता है। स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि डेल्टा प्लस वेरियंट बन सकता है भारत में कोरोना की तीसरी लहर की वजह, अब तक 40 मामले सामने आए।

Next Story