Logo
election banner
Jyotiraditya Scindia Slams IndiGo tarmac Incident: केंद्रीय विमानन मंत्री ने गुरुवार को रनवे पर विमान यात्रियों को भोजन परोसे जाने पर प्रतिक्रिया दी। सिंधिया ने कहा कि इस तरह की घटना कल्पना से परे, अस्वीकार्य और शर्मनाक हैं।

Jyotiraditya Scindia Slams IndiGo tarmac Incident: केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हाल ही में प्लेन यात्रियों को रनवे के पास टरमैक पर भोजन परोसे जाने की घटना पर अपनी प्रतिक्रिया दी। सिंधिया ने कहा कि इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकता। केंद्रीय विमानन मंत्री ने कहा कि इस तरह की घटना अस्वीकार्य और शर्मनाक है। 14-15 जनवरी को इससे जुड़ा एक वीडियो वायरल हुआ था। इसके बाद सरकार ने इंडिगो और मुंबई इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (एमआईएएल) पर जुर्माना लगाया है। 

कुछ घंटों के भीतर लिया गया एक्शन
सिंधिया ने कहा कि वीडियो सामने आने के कुछ ही घंटों के भीतर एक्शन लिया गया। इस  लापरवाही में शामिल एयरलाइन और एयरपोर्ट को कारण बताओ नोटिस जारी किए गए और जुर्माना लगाया गया। उन्होंने स्पष्ट किया कि विमान यात्रियों को रनवे पर लंगर की तरह भोजन परोसने का मामला खराब मौसम के दौरान सामने आया। जीरो विजिबिलिटि के कारण विमानों की लैंडिंग और टेक ऑफ चुनौतीपूर्ण हो गई। इसके कारण डायवर्ट की गई फ्लाइट को  मुंबई के छत्रपति शिवाजी महाराज इंटरनेशनल एयरपोर्ट के टरमैक पर पार्क करना पड़ा।

किसी हाल में यात्रियों की सुरक्षा से समझौता नहीं
मंत्री ने कहा कि ऐसी घटनाएं स्वीकार करने योग्य नहीं हैं। हमें  आधी रात को इस बात की जानकारी मिली। इसके बाद मंत्रालय के अधिकारियों के साथ एक बैठक बुलाई गई।  3-4 घंटे के भीतर एयरलाइन और मुंबई एयरपोर्ट को नोटिस जारी किया गया और 24 घंटे के भीतर जुर्माना लगा दिया गया। सिंधिया ने माना कि खराब मौसम की वजह से फ्लाइट कैंसल होने के कारण यात्रियों को असुविधा हुई। हालांकि, केंद्रीय मंत्री ने कहा कि किसी भी हाल में यात्रियों की सुरक्षा से समझौता नहीं किया जा सकता।

इंडिगो ने सुरक्षा जांच प्रक्रियाओं का पालन नहीं किया
बता दें कि बीते रविवार को इंडिगो की फ्लाइट को खराब मौसम और लो विजिबिलिटी के कारण दिल्ली डायवर्ट किया गया था। गोवा-दिल्ली फ्लाइट को को मुंबई  एयरपोर्ट पर लैंड कराया गया था। इस दौरान यात्रियों को विमान के टरमैक पर खाना खाते देखा गया। इसे गंभीरता से लेते हुए इंडिगो और एमआईएएल को कारण बताओ नोटिस भेजा गया। नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो (बीसीएएस) ने अपने आदेश में कहा  कि इंडिगो ने सुरक्षा जांच प्रक्रियाओं का पालन किए बिना यात्रियों को उतरने और चढ़ने की अनुमति दी। वहीं, एमआईएएल घटना की तुरंत रिपोर्ट करने में विफल रहा।

5379487