Logo
election banner
असम की AIUDF पार्टी के प्रमुख बदरुद्दीन अजमल ने शनिवार को मुसलमानों काे 20 से 26 जनवरी तक अपने घरों में ही रहने की अपील की। बदरुद्दीन ने कहा कि इस दौरान अयोध्या में राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा है। इसलिए मुसलमान बस, ट्रेन और कार में सफर न करें।

AIUDF chief Badruddin Ajmal appeal to muslims:असम की ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट(AIUDF) पार्टी के प्रमुख और सांसद बदरुद्दीन अजमल ने अपने एक बयान से बखेड़ा खड़ा कर दिया। असम के बारपेटा जिले में एक कार्यक्रम के दौरान बदरुद्दीन ने कहा कि मुसलमान 20 से 26 जनवरी तक अपने घरों में रहें। अयोध्या में राम मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा होने वाला है। ऐसे में ट्रेन, बस और कार से सफर नहीं करे। AIUDF प्रमुख ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में जाने वाले लोग भी इसी दौरान बसों और ट्रेनों में सफर करते मिलेंगे। बद्दरुद्दीन ने भाजपा को मुसलमानों का सबसे बड़ा दुश्मन बताया। 

बद्दरुद्दीन ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा
बदरुद्दीन ने कहा कि इस देश में मुसलमान काफी लंबे समय से पीड़ित हैं। भाजपा मुसलमानों की जिंदगी, उनके मजहब, ईमान, अजान, मदरसा, मस्जिद, इस्लामी कानून और तलाक के साथ ही कुरान में दी गई सभी बातों का दुश्मन है। इसके साथ ही बदरुद्दीन ने कांग्रेस पर भी निशाना साधा। AIUDF नेता ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में ही असम में मुसलमानों के लिए परेशानी शुरू हुई। कांग्रेस के शासनकाल में ही असम में NRC और  डुप्लीकेट वोटर्स जैसे मुद्दों सामने आए।

कांग्रेस ने मुसलमानों को सिर्फ लॉलीपॉप दिखाया
बदरुद्दीन ने कहा कि असम में इससे पहले तरुण गोगोई की अगुवाई वाली कांग्रेस सरकार थी। तरुण गोगोई ने असम में पांच लाख डुप्लीकेट वोटर्स जुड़वाए। उन्होंने पूछा कि असम में डिटेंशन सेंटर किसके समय में बने? यह कांग्रेस की सरकार के शासनकाल में ही बने। बदरुद्दीन ने इस बात पर भी नाराजगी जाहिर की कि मुसलमान कांग्रेस को क्यों वोट देते हैं। AIUDF के नेता ने कहा कि कांग्रेस ने मुसलमानों की भलाई के लिए कुछ नहीं किया है। बस वादों का लॉलीपॉप दिखाया है। मुझे नहीं पता कि मुसलमान इसके बावजूद कांग्रेस को वोट देने के लिए क्यों पागल हो जाते हैं। 

5379487