logo
Breaking

पार्टनर के साथ ऐसे सोएंगे तो हो सकती है ''दिल की बीमारी''

29 प्रतिशत वयस्कों का कहना है कि उनके पार्टनर ही उनकी नींद की राह में रोड़ा हैं।

पार्टनर के साथ ऐसे सोएंगे तो हो सकती है
नई दिल्ली. सर्दी आ रही है। कुछ लोग इसमें दुबककर सोएंगे तो कुछ लोग मौसम के मारे ठिठुरेंगे। माना जाता है कि अपने जीवनसाथी के साथ सोना हमेशा सुकूनदायक नहीं होता।
असल में, यह न केवल खर्राटों के कारण मुश्किल होता है बल्कि असुविधा भरा भी मालूम होता है। जब दोनों में से कोई एक खुमारी होता है। लेकिन एक और बात है वह यह कि यह नुकसानदायक भी हो सकता है। इसके चलते डिप्रेशन,हृदय रोगों की संभावना, स्ट्रोक और सांस लेने में परेशानी जैसी समस्याओं में इजाफा होने की आशंका रहती है। इतना ही नहीं, इससे तलाक का खतरा भी बढ़ता है। यह सब सुनने में बेहद अजीब लगता है लेकिन जब आप इसे समझेंगे तो पाएंगे कि 29 प्रतिशत वयस्कों का कहना है कि उनके पार्टनर ही उनकी नींद की राह में रोड़ा हैं।
दूसरे लोगों को यूं लगता है जैसे दोनों के बीच कुछ खटपट है। नींद विशेषज्ञ डॉक्टर ने बताया कि तकरीबन एक तिहाई ब्रिटिश कहते हैं कि वे रात भर में अच्छी और सुकूनदायक नींद नहीं ले पाते हैं, क्योंकि उनके साथी से अड़चन पैदा होता है। वह कहते हैं, कई लोगों के लिए यह साफ है कि अलग कमरे में सोने से उन्हे एक बेहतर शांति भरी नींद हासिल होती है। यह दुर्लभ मामला है जब आपको अपने साथी के साथ सोने में संतुष्टिदायक नींद मिली हो। जाहिर सी बात है कि अगर नींद पूरी न होने से चेहरे की खूबसूरती भी ढल जाती है।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Share it
Top