Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानें क्या है मॅकक्लिंटॉक इफेक्ट, जिस वजह से साथ रहने सभी लड़कियों को होते हैं एक साथ पीरिड्स

अक्सर देखा जाता है कि साथ में रहने से महिलाओं की पीरियड्स डेट सेम हो जाती है। महज यह कोई इत्तेफाक नहीं है बल्कि इसके पीछे कुछ लॉजिक भी हैं जो आज हम आपको बताने जा रहे हैं।

जानें क्या है मॅकक्लिंटॉक इफेक्ट, जिस वजह से साथ रहने से लड़कियों को होते हैं एक साथ पीरिड्सक्या है मॅकक्लिंटॉक इफेक्ट (फाइल फोटो)

कई बार ऐसा होता है कि अगर आपकी बेस्ट फ्रेंड या आपकी रूम पार्टनर को पीरियड्स हो तो आपकी भी उस समय डेट आ जाती है। जबकि दोनों को साइकल अलग था। इसको लेकर अक्सर महिलाओं के मन में सवाल उठता है। वहीं आपको हम बताना चाहेंगे कि ये एक इत्तेफाक नहीं होता बल्कि इसके पीछे कुछ लॉजिक भी होते हैं।

इसका एक कारण फेरोमोन्स को भी माना जाता है

जिस महिला को पीरियड्स हो रहे होते हैं और वो दूसरी महिला के कोन्टेक्ट में आती है तो उसे भी होने लगते हैं। इसका एक कारण फेरोमोन्स भी होता है। यह तरह का बॉडी केमिकल होता है।

मॅकक्लिंटॉक इफेक्ट

इस बात को जानने के लिए एक रिसर्च भी की गई थी। जिसमें कई महिलाओं ने माना था कि जो महिलाएं एक साथ में ज्यादा समय बिताती हैं। उनके पीरियड्स की डेट भी सेम हो जाती है। जिसे पीरियड सिंकिग भी कहा जाता है। वहीं इसे मेडिकल भाषा में मेंस्ट्रुअल सिंक्रॉनी, मॅकक्लिंटॉक इफेक्ट (McClintock effect) भी कहा जाता है। इसकी रिसर्च मार्था मॅकक्लिंटॉफ नाम की रीसर्चर ने की थी। इस रिसर्च में साबित हुआ था कि सच में एक साथ महिलाओं के रहने से उनकी पीरियड डेट सेम हो गई थी। जिसके बाद से इसे मॅकक्लिंटॉक इफेक्ट कहा जाने लगा।

इसके बाद भी इस पर कई और स्टीज की गई जिसमें फिर से यही बात साबित हुई कि साथ रहने से महिलाओं की पीरियड डेट सिंक हो जाती हैं। इतनी ही नहीं साथ रहने से पीरियड सिंपटम्स जैसे मेंस्ट्रुअल माइग्रेन पर भी इसका असर पड़ता है।


Shagufta Khanam

Shagufta Khanam

Jr. Sub Editor


Next Story
Top