Logo
MP Board Class 10 Sanskrit Exam Analysis: मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड भोपाल (Board of Secondary Education Bhopal) की परीक्षाएं शुरू हो गई है। आज 10वीं का संस्कृत विषय का तीसरा पेपर था, जो अब खत्म हो गया है। कैसा आया था पेपर, बच्चों ने कैसे किया हल जानिए स्टूडेंट्स से...

MP Board Class 10 Sanskrit Exam Analysis: मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल बोर्ड भोपाल (Board of Secondary Education Bhopal) की 10वीं की परीक्षा शुक्रवार यानी 09 फरवरी के दिन क्लास 10वीं का तीसरा पेपर संस्कृत का था। जो सुबह 9 बजे से 12 बजे तक आयोजित हुआ। जानिए स्टूडेंट्स से कि कैसा आया था बोर्ड 10वीं का संस्कृत पेपर और पेपर में कहां आई दिक्कत।

हरिभूमि की डिजिटल टीम ने 10वीं कक्षा के संस्कृत विषय के पेपर को लेकर भोपाल के स्कोप पब्लिक स्कूल, भोपाल पहुंची और वहां बोर्ड के बच्चों के साथ बातचीत की। जहां स्टूडेंट्स केंद्र से बाहर निकलते समय बताया कि संस्कृत 10वीं का पेपर आसान और सरल आया था। जानिए किसने क्या कहा..

केएम कॉन्वेंट पब्लिक स्कूल की छात्रा पूनम शर्मा और मुस्कान चौहान ने बताया कि पेपर काफी सरल रहा। 70 से ऊपर नंबर आने का अनुमान है। परीक्षा की तैयारी को लेकर बताया कि हमेशा 8-9 घंटे पढ़ाई करते थे। परीक्षा केंद्र में पूनम के पिता जयप्रकाश शर्मा से भी बातचीत हुई। वह मंदिर में पुजारी का काम करते हैं। उन्होंने बताया कि संस्कृत भाषा में पूनम की पकड़ अच्छी है। मंदिर में हमारा काम पूजा-पाठ का है, जिसके कारण घर में हर किसी की संस्कृत भाषा में पकड़ है। पूनम की सहेली मुस्कान चौहान ने बताया कि पेपर अच्छा रहा लेकिन हमें सेक्शन-बी का प्रश्न क्रमांक 7 समझ में नहीं आया। यह आउट ऑफ सिलेबस लग रहा है। इसके अलावा हमने सभी प्रश्नों के उत्तर दिए। पेपर में किसी प्रकार की कोई समस्या नहीं आई।

ज्ञान ज्योति एकेडमी स्कूल भोपाल के छात्र आदित्य शर्मा ने बताया कि पेपर औसतन अच्छा रहा। उसने बताया कि सभी विषय में सबसे कम संस्कृत की तैयारी की थी। फिर भी 70 नंबर आने की संभावना है। पेपर में सब कुछ सरल लगा। निबंध हमारी तैयारी के हिसाब नहीं रहा, जिसमें नंबर कट सकते हैं। परीक्षा के समय 8 घंटे घर में खुद से पढ़ाई करने की बात कही।

केएम कॉन्वेंट स्कूल के छात्र कृष्णा सोलंकी ने बताया कि पेपर काफी सरल रहा। उसने बताया कि 2 घंटे घर में यूट्यूब के माध्यम से पढ़ाई करता था लेकिन परीक्षा के एक सप्ताह पूर्व 4-5 घंटे तैयारी किया। किसी कोचिंग का सहारा नहीं लिया और साथ ही घर में सेल्फ स्टडी की। घर में तैयारी के लिए पेरेंट्स का बहुत सहयोग मिला।

ज्ञान ज्योति एकेडमी स्कूल भोपाल की छात्रा अंजली सिंह ने बताया कि संस्कृत के पेपर को लेकर काफी टेंशन थी, लेकिन जैसे ही पेपर देखा सारी टेंशन दूर हो गई। पेपर के लिए ज्यादा तैयारी नहीं की थी। उन्होंने बताया की औसतन 55+ स्कोर आ जाएगा। पढ़ाई को लेकर बताया की रोजाना 4 से 5 घंटे पढ़ाई करती थी। सबसे ज्यादा समय विज्ञान और मैथ्स को दिया। 

यहां देखिए 10वीं बोर्ड संस्कृत का पेपर

MP Board class 10 Sanskrit Exam
MP Board class 10 Sanskrit Exam
MP Board class 10 Sanskrit Exam
MP Board class 10 Sanskrit Exam
MP Board class 10 Sanskrit Exam

संस्कृत पेपर का ऐसा था फॉर्मेट
एमपी बोर्ड 10वीं संस्कृत की परीक्षा में कुल 75 मार्क्स की थी। जिसमें कुल 23 प्रश्न पूछें गए थे।

jindal steel hbm ad
5379487