Logo
election banner
Income Tax: भारत में आईटी सर्विसेस में इंफोसिस की टक्कर सीधे टीसीएस और विप्रो से होती है। इंफोसिस का हेडक्वार्टर बेंगलुरु में है। इंफोसिस लिमिटेड को तिमाही के दौरान असेसमेंट ईयर 07-08 से 15-16, 17-18 और 18-19 के लिए आयकर विभाग से आदेश मिले हैं।

Income Tax: भारत में आईटी सेक्टर की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी इंफोसिस को आयकर विभाग (Income Tax Department) से 6,329 करोड़ रुपए का रिफंड मिलने की उम्मीद है। रविवार को कंपनी ने बीएसई एक्सचेंज फाइलिंग में कई असेसमेंट ऑर्डर का हवाला देते हुए 2,763 करोड़ रुपए की टैक्स डिमांड को लेकर भी सूचित किया है। इंफोसिस लिमिटेड ने कहा कि उसे तिमाही के दौरान असेसमेंट ईयर 07-08 से 15-16, 17-18 और 18-19 के लिए आयकर विभाग से ऑर्डर मिले हैं। आईटी सर्विसेस में इंफोसिस की टक्कर सीधे टीसीएस और विप्रो से होती है। इंफोसिस का हेडक्वार्टर बेंगलुरु में है।

18 अप्रैल को रिजल्ट घोषित करेगी इंफोसिस
इंफोसिस (Infosys) ने बीएसई फाइलिंग में बताया कि कंपनी को 6,329 करोड़ रुपए (ब्याज समेत) रिफंड मिल सकता है। कंपनी फाइनेंशियल ईयर 31 मार्च, 2024 की अंतिम तिमाही और वर्ष के वित्तीय विवरणों पर इन आदेशों के हिसाब से वैल्यूएशन की प्रोसेस में है। इसके अलावा कंपनी 18 अप्रैल को चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही के साथ-साथ पूरे वित्त वर्ष 2024 के लिए अपना रिजल्ट घोषित करने वाली है।

इंफोसिस को मिला 2,763 करोड़ रु. टैक्स डिमांड ऑर्डर 
कंपनी ने आगे बताया कि उसे असेसमेंट ईयर 22-23 के लिए 2,763 करोड़ रुपए की कर मांग (टैक्स डिमांड) का एक ऑर्डर मिला है, जिसमें ब्याज भी शामिल है। साल 11-12 के लिए 4 करोड़ रुपए की कर मांग और ब्याज शामिल है। इंफोसिस को अपनी एसोसिएट्स कंपनियों के लिए भी कुल 277 करोड़ रुपये के असेसमेंट ऑर्डर प्राप्त हुए हैं। इनमें 21-22 के लिए 145 करोड़ रुपए और 18-19 के लिए 127 करोड़ रुपए की टैक्स डिमांड शामिल है।  

कंपनी को 6,329 करोड़ का रिफंड मिलने की उम्मीद
इसके अलावा, इंफोसिस को आयकर विभाग की ओर से 6,329 करोड़ रुपए का रिफंड मिलने की उम्मीद है। इंफोसिस की एक सहयोगी कंपनी को साल 07-08 और 08-09 के लिए धारा 254 के तहत और असेसमेंट ईयर 16-17 के लिए धारा 154 के तहत रिफंड आदेश मिले हैं। इसमें रिफंड राशि 14 करोड़ रुपए हैं। रिफंड वैल्यूएशन की प्रक्रिया अभी जारी है।

5379487