Logo
election banner
Mohammed Abdul Arfath Found Dead in US: मोहम्मद अरफात की मौत से पूरा परिवार टूट गया है। इस साल 2024 में अरफात को लेकर 11 भारतीयों की मौत अमेरिका में हुई है। इनमें से 8 छात्र थे।

Mohammed Abdul Arfath Found Dead in US: अमेरिका से एक सनसनीखेज खबर सामने आई है। करीब तीन हफ्ते से लापता 25 वर्षीय भारतीय छात्र मोहम्मद अब्दुल अरफात संयुक्त राज्य अमेरिका के क्लीवलैंड में मृत पाया गया। वह हैदराबाद का रहने वाला था। अमेरिकी में भारतीय छात्र की मौत की यह इस साल 2024 में 11वीं घटना है।

दूतावास ने जताया दुख, कहा- शव भारत लाने में कर रहे मदद
अरफात की मौत की पुष्टि न्यूयॉर्क स्थित भारतीय वाणिज्य दूतावास ने की है। न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्य दूतावास ने ट्वीट किया कि यह जानकर दुख हुआ कि मोहम्मद अब्दुल अरफात क्लीवलैंड, ओहियो में मृत पाए गए। उनकी खोजबीन चल रही थी। दूतावास ने यह भी कहा कि वह क्लीवलैंड विश्वविद्यालय के छात्र की मौत की गहन जांच सुनिश्चित करने के लिए अमेरिका में स्थानीय एजेंसियों के संपर्क में है। साथ ही शव को भारत लाने के लिए पीड़ित परिवार को हर संभव मदद दी जा रही है। 

मई 2023 में गया था अमेरिका
अरफात क्लीवलैंड विश्वविद्यालय से इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में मास्टर डिग्री हासिल करने के लिए मई 2023 में अमेरिका पहुंचे थे। लेकिन 7 मार्च के आसपास लापता हो गए। पिता मोहम्मद सलीम ने कई बार संपर्क साधने का प्रयास किया, लेकिन फोन स्विच ऑफ आ रहा था। 

19 मार्च को आया था फिरौती का फोन
पिता मोहम्मद सलीम ने बताया कि 19 मार्च को एक अज्ञात व्यक्ति का फोन आया। बताया गया अरफात को ड्रग्स बेचने वाले एक गिरोह ने अपहरण कर लिया है और 1,200 डॉलर की मांग की। फिरौती की रकम का भुगतान कैसे होना है, इसकी कोई जानकारी नहीं दी। जब सलीम ने अपने बेटे से बात कराने की इच्छा जाहिर की तो कॉल करने वाले ने इंकार कर दिया। अरफात के पिता ने कहा कि कॉलर ने फिरौती न देने पर छात्र की किडनी बेचने की भी धमकी दी।

Mohammed Abdul Arfath
Mohammed Abdul Arfath

विदेश मंत्री से परिवार ने मांगी थी मदद
21 मार्च को भारतीय वाणिज्य दूतावास ने कहा था कि वह अरफात का पता लगाने के लिए स्थानीय कानून प्रवर्तन अधिकारियों के साथ समन्वय कर रहा है। छात्र के परिवार ने विदेश मंत्री एस जयशंकर को भी पत्र लिखकर अरफात का पता लगाने और उसे भारत वापस लाने का अनुरोध किया था। फिलहाल, अब छात्र के मारे जाने की खबर पाकर परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। 

इस साल 11 भारतीयों की अमेरिका में गई जान
अब्दुल अरफात इस साल अमेरिका में मरने वाले ग्यारहवें भारतीय हैं। मृतकों में से आठ छात्र थे। एक के बाद एक हुई मौतों ने अमेरिका में भारतीय छात्रों और भारत में उनके परिवारों को हैरान और चिंतित कर दिया है। जिन आठ छात्रों की मौत हुई है, उनमें से 25 वर्षीय विवेक सैनी की एक बेघर नशेड़ी ने पीट-पीटकर हत्या कर दी थी और 27 वर्षीय वेंकटरमण पित्तला की जलयान दुर्घटना में मौत हो गई थी। कई छात्रों की मौत के कारणों की अभी तक पुष्टि नहीं हो पाई है। 

jindal steel Ad
5379487