Logo
election banner
UP Student Protest for RO-ARO reexam: उत्तर प्रदेश में समीक्षा अधिकारी एवं सहायक समीक्षा अधिकारी भर्ती परीक्षा में धांधली को लेकर हजारों छात्र प्रदर्शन कर रहे हैं।

UP Student Protest for RO-ARO reexam: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित समीक्षा अधिकारी (RO) एवं सहायक समीक्षा अधिकारी (ARO) भर्ती परीक्षा में धांधली का आरोप लगाते हुए हजारों छात्र सड़क पर उतर आए। शुक्रवार को UPPS के कार्यालय का घेराव कर RO-ARO परीक्षा निरस्त किए जाने और Re-EXAM की मांग की है। छात्रों के विरोध प्रदर्शन से प्रयागराज-लखनऊ मार्ग जाम हो गया। हालात न बिगड़ने पाएं, इसके लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। छात्र परीक्षा निरस्त कर नई तिथि घोषित करने की मांग कर रहे हैं। 

NSUI, दिशा और समाजवादी छात्र सभा का समर्थन 
उत्तर प्रदेश में लोक सेवा आयोग कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे छात्रों को NSUI (भारतीय राष्ट्रीय छा संगठन) , समाजवादी छात्रसभा और दिशा छात्र संगठन (Disha Students Organization) सहित अन्य छात्र संगठनों का समर्थन प्राप्त है। प्रयागराज में आयोग कार्यालय के बाहर सुबह 11 बजे से स्टूडेंट्स पहुंचने लगे थे। दोपहर होते-होते हजारों छात्र एकत्रित हो गए और गेट के बाहर धरने पर बैठ गए। यूपी योगी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। विरोध प्रदर्शन के चलते पुलिस ने आयोग चौराहे से सिविल लाइंस व बस अड्डा जाने वाली सड़कों पर बैरिकेडिंग कर आवागमन रोका। 
UP Student Protest for RO-ARO reexam
उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के बाहर धरने पर बैठे RO ARO परीक्षा के अभ्यर्थी।
मेल पर भेजे गड़बड़ी के सबूत, हार्डकॉपी लेकर धरने पर पहुंचे छात्र 
प्रदर्शनकारी छात्र अपने साथ पेपर लीक और गड़बड़ी कई सबूत लेकर आयोग कार्यालय पहुंचे। नारेबाजी करते हुए बताया कि लोक सेवा आयोग को ईमेल पर भी साक्ष्य भेजे हैं। कई प्रतियोगियों ने एफिडेविड भी साक्ष्य के तौर पर भेजे हैं। वह इनकी हार्डकॉपी देने को भी तैयार हैं। कहा, आयोग निष्पक्ष जांच कर दोबारा परीक्षा कराए।  ताकि, रात दिन जागकर तैयारी करने वाले प्रतियोगियों का भला हो सके।  

लोक सेवा आयोग ने नोडल अधिकारियों से तलब की रिपोर्ट
इधर, RO-ARO परीक्षा-2023 में पेपर लीक मामले को उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) ने भी गंभीरता से लेते हुए आंतरिक जांच समिति गठित की है। साथ ही सभी 58 जिलों के नोडल अधिकारियों से विस्तृत रिपोर्ट तलब की है। अब तक जो साक्ष्य मिले हैं, उनके अनुसार दोनों पालियों के प्रश्नपत्रों की उत्तरकुंजी परीक्षा से एक घंटे पहले सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल हुई थी। प्रथम प्रश्नपत्र की वायरल कुंजी में आधे सवालों के वैकल्पिक जवाब सही हैं। 
5379487