Logo
election banner
 Ambedkar Jayanti in Kanpur: उत्तर प्रदेश के कानपुर में रविवार को शोभायात्रा को लेकर बवाल हो गया। पुलिस ने आंबेडकर जयंती पर निकाली जा रही शोभायात्रा को आचार संहिता का हवाला देकर रोक लिया था, जिससे लोग आक्रोशित हो गए।

 Ambedkar Jayanti in Kanpur: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में रविवार को आंबेडकर जयंती पर शोभायात्रा के दौरान बवाल हो गया। पुलिस ने अधिक गाड़ियां और साउंड सिस्टम की अनुमति के बहान शोभायात्रा रोक लिया था, जिससे आक्रोशित लोगों ने धरना-प्रदर्शन शुरू कर नारेबाजी करने लगे। 

कानपुर के मसवानपुर में हुई इस घटना की सूचना मिलते ही कल्याणपुर ACP अभिषेक पांडेय और डीसीपी विजय ढुल मौके पर पहुंचे और प्रदर्शनकारियों को समझाइश दी। अंतत: चुनाव आयोग के नियमों और अनुमति का हवाला देकर तीन गाड़ियां और प्रत्येक गाड़ी पर दो साउंड सिस्टम के साथ शोभायात्रा को जाने दिया गया। विरोध प्रदर्शन में सपा नेता सम्राट विकास भी शामिल हुए। 

भारतीय बौद्ध महासभा ने किया आयोजन 
भारतीय बौद्ध महासभा ने हर साल की तरह इस बार भी आंबेडकर जयंती का कार्यक्रम कल्याणपुर थाना क्षेत्र के मसवानपुर में आयोजित किया था। रविवार सुबह 10 बजे जैसे ही 15 से 20 गाड़ियों के साथ लोग आगे बढ़े, पुलिस ने आचार संहिता उल्लंघन का हवाला देकर जुलूस रोक लिया और अनुमति मांगने लगी। इससे लोग भड़क गए और हंगामा करते हुए धरने पर बैठ गए।  

खबर अपडेट हो रही है
 

5379487