Logo
election banner
EAM Jaishankar IIM Mumbai Visit Updates: विदेश मंत्री ने आईआईएम मुंबई के एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया। उन्होंने छात्रों के एक सवाल के जवाब में कहा कि हमें चीन से डरने की जरूरत नहीं है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काम करने के अनुभव को रोमांचकारी बताया। साथ ही लाल सागर में तैनात भारतीय नौसैनिकों की असली ताकत का मतलब भी बताया। 

EAM Jaishankar IIM Mumbai Visit Updates: विदेश मंत्री जयशंकर ने मंगलवार को आईआईएम मुंबई में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि चीन हमारा एक पड़ोसी देश है। कई बार राजनीतिक प्रतिस्पर्धा के चलते प्रभाव पड़ता है। लेकिन मुझे नहीं लगता कि हमें चीन से डरना चाहिए। मैं कहूंगा कि वैश्विक राजनीति एक प्रतिस्पर्धा का खेल है। आप अपना सर्वश्रेष्ठ करें, और मैं अपना सर्वश्रेष्ठ करूंगा। चीन एक प्रमुख अर्थव्यवस्था है। वह संसाधनों को तैनात करेगा। यह अपने तरीके से चीजों को आकार देने की कोशिश करेगा। हमें उससे उम्मीद क्यों करनी चाहिए? शिकायत भी करना नहीं है कि चीन क्या कर रहा है। हमें उससे बेहतर करना है। 

कठिन परिस्थितियों में मदद की गारंटी देता है भारत
वहीं, अरब सागर में बढ़ते ड्रोन अटैक को लेकर विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा कि भारतीय नौसेना ने उस क्षेत्र में 10 जहाज तैनात किए हैं। क्योंकि हमें दोहरी समस्या से जूझना पड़ रहा है। समुद्री डकैती बढ़ी है तो वहीं हूती विद्रोही मिसाइल ड्रोन कर रहे हैं। पिछले दिनों हमारे एक जहाज ने आग बुझाई और एक टैंकर के चालक दल को बचाया। पाकिस्तानी और ईरानी मछुआरों को समुद्री डाकुओं से बचाया गया। मुझे महसूस हो रहा है कि आज हमारी प्रतिष्ठा इस बात की गारंटी देती है कि हम वास्तव में कठिन परिस्थितियों में मदद करते हैं। अगर हमारे पड़ोस में बुरी चीजें हो रही हैं तो हमें एक जिम्मेदार देश नहीं माना जाएगा।। मेरा विश्वास करें, लोग हमें बहुत अधिक गर्मजोशी से और बहुत अधिक मित्रवत रूप से देखते हैं।

पीएम लेते हैं साहसिक फैसले
आईआईएम के छात्रों ने पूछा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ काम करना कैसा लगता है? इसके जवाब में विदेश मंत्री ने कहा कि मेरा सफर बहुत रोमांचक है। वे साहसिक फैसले लेने वाले प्रधानमंत्री हैं। उनमें महात्वाकांक्षा है। देश के लिए बड़े विचार हैं। प्रधानमंत्री नए विचारों के साथ पूरे आत्मविश्वास के साथ आगे बढ़ने के लिए काम करते हैं। 

5379487