Logo
election banner
PM Narendra Modi in MP: सड़क, बिजली, रेल, सिंचाई, जलापूर्ति, कोयला, उद्योग सहित सरकारी सेवाओं में सुधार के लिए साइबर तहसील परियोजना व विक्रमादित्य वैदिक घड़ी का वर्चुअल  शुभारंभ, 500 स्थानों पर लाइव सुना गया पीएम मोदी संबोधन  

PM Narendra Modi in MP: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुरुवार, 29 फरवरी को विकसित भारत विकसित मप्र कार्यक्रम के तहत मप्र को 16,961 हजार करोड़ की विकास परियोजनाओं की सौगात दी। दिल्ली से वर्चुअल माध्यम पर संबोधित करते हुए कहा, भाजपा भारत को दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनाने के लक्ष्य के साथ लोकसभा चुनाव में उतरेगी। चारों ओर एक ही शोर है, एनडीए 400 सीट का आंकड़ा पार कर जाएगा। पीएम ने बताया कि पिछले 10 साल में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की साख कई गुना बढ़ी है। इससे विदेशी निवेश बढ़ा है। दुनियाभर के देश भारत के साथ बेहतर संबंध बनाने को तैयार हैं। 

प्रधानमंत्री मोदी ने मप्र में 17 हजार करोड़ की परियोजनाओं की सौगात देते हुए कहा कि मप्र अजब अजब है। यहां का विकास तो स्वाभाविक है। मप्र में भाजपा की डबल इंजन की सरकारें दोगुनी गति से काम कर रही हैं। 2014 के बाद भाजपा सरकार ने 90 लाख हेक्टेयर भूमि केा सिंचित बनाया है। जबकि यूपीए सरकार ने 10 साल में 40 लाख हेक्टेयर सिंचाई क्षमता बढ़ाई थी। 

प्रधानमंत्री ने इस दौरान साइबर तहसील परियोजना और उज्जैन की विक्रमादित्य वैदिक घड़ी का भी लोकार्पण किया। उनके इस कार्यक्रम का लाइव प्रसारण 500 स्थानों पर देखा गया। भोपाल के लाल परेड ग्राउंड में राज्यपाल मंगुभाई पटेल और मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव सहित सरकार के अन्य मंत्री व अधिकारी शामिल हुए। 

PM मोदी इन परियोजनाओं का करेंगे लोकार्पण शिलान्यास 

  • प्रधानमंत्री मप्र में अपर नर्मदा परियोजना, राघवपुर बहुउद्देशीय परियोजना और बसनिया बहुउद्देशीय सहित 5500 करोड़ की सिंचाई परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इनसे डिंडोरी, अनुपपुर और मंडला जिलों में 75 हजार हेक्टेयर से अधिक कृषि भूमि सिंचित होगी। बिजली आपूर्ति बढ़ेगी और पेयजल संकट खत्म होगा।
  • प्रधानमंत्री 800 करोड़ से अधिक की पारसडोह सूक्ष्म सिंचाई परियोजना और औलिया सूक्ष्म सिंचाई परियोजना राज्य को समर्पित की। यह सूक्ष्म सिंचाई परियोजनाएं बैतूल और खंडवा जिलों में 26 हजार हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में सिंचाई करेंगी।
  • 2200 करोड़ लागत से निर्मित तीन रेलवे परियोजनाओं का लोकार्पण किया। वीरांगना लक्ष्मीबाई झांसी-जखलौन एवं धौरा-आगासोड मार्ग पर तीसरी लाइन, सुमावली-जोरा अलापुर रेललाइन में गेज परिवर्तन और पोवारखेड़ा-जुझारपुर रेललाइन फ्लाईओवर की परियोजना शामिल हैं। इससे रेल कनेक्टिविटी बढ़ेगी। 
  • प्रधानमंत्री लगभग 1000 करोड़ की औद्योगिक परियोजनाओं की आधारशिला रखी। रतलाम में बड़ा औद्योगिक पार्क; मुरैना के सीतापुर में मेगा चमड़ा, जूते एवं सहायक उपकरण केंद्र; इंदौर में परिधान उद्योग के लिए प्लग एंड प्ले पार्क; मंदसौर और धार में औद्योगिक पार्क पीथमपुर का उन्नयन शामिल है। 
  • कोयला क्षेत्र की 1000 करोड़ की जयंत ओसीपी सीएचपी साइलो, एनसीएल सिंगरौली; और दुधिचुआ ओसीपी सीएचपी-साइलो परियोजनाएं शामिल हैं।
  • पन्ना, रायसेन, छिंदवाड़ा और नर्मदापुरम जिलों में स्थित 6 सबस्टेशनों की आधारशिला रखी। इनसे प्रदेश के 11 जिलों भोपाल, पन्ना, रायसेन, छिंदवाड़ा, नर्मदापुरम, विदिशा, सागर, दमोह, छतरपुर, हरदा और सीहोर के लोगों को लाभ मिलेगा। इन सबस्टेशनों से मंडीदीप औद्योगिक क्षेत्र के उद्योगों को भी लाभ होगा।
  • 880 करोड़ की लागत वाली जल आपूर्ति प्रणालियों को मजबूत करने की परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे। साथ ही खरगोन में नलजल परियोजना लोकार्पित की।  
  • मध्यप्रदेश में साइबर तहसील परियोजना का शुभारंभ किया। इससे खसरा खतौनी, दाखिल खारिज सहित अन्य सेवाएं आसान होंगी। राजस्व रिकॉर्ड में रिकॉर्ड सुधार के लिए दफ्तरों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे। एकल राजस्व न्यायालय भी स्थापित की गई है। जहां आवेदक को आदेश की प्रमाणित कॉपी ईमेल और वाट्सएप पर उपलब्ध हो जाएगी। 
jindal steel Ad
5379487