Logo
Bhopal Chipko movement : राजधानी के लोग हरियाली बचाए रखने के लिए पिछले कई दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। प्रदेश और केंद्र के मंत्री भी इस पर ध्यान देते हुए पेड़ों को नहीं कटने देने का समर्थन कर रहे हैं।

Bhopal Chipko movement : मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लोग हरियाली बचाए रखने के लिए पिछले कई दिनों से आंदोलन कर रहे हैं। इस आंदोलन में महिलाओं ने भी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हुए पेड़ों को रक्षा सूत्र बांधते हुए इनकी रक्षा की बात रखी। अब प्रदेश और केंद्र के मंत्री भी इस पर ध्यान देते हुए पेड़ों को नहीं कटने देने का समर्थन कर रहे हैं।

शिवराज सिंह चौहान ने नहीं कटने देने की बात कही
केंद्रीय कृषि मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में पेड़ों को नहीं कटने देने की बात यहां के लोगों से कही है। शिवराज सिंह चौहान एक दिन पूर्व प्रदेश का दौरा करते हुए भोपाल पहुंचे, जहां नागरिकों ने उनका सम्मान किया। शिवराज के बाद अब मोहन सरकार में मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने भी पेड़ों की कटाई नहीं होने को लेकर एक्स पर अपनी बात कही है। विजयवर्गीय ने इस विषय पर ट्वीट कर अपनी बात जनता से शेयर की है।

विजयवर्गीय ने लिखा नागरिकों से विचार विमर्श
मंत्री विजयवर्गीय ने एक्स पर लिखा कि नये भोपाल के पुनर्घनत्वीकरण योजना के पर्यावरण संरक्षण एवं क्षेत्र में विद्यमान वृक्षों को देखते हुए प्रस्तुत प्रस्ताव को संपूर्ण विचारोपरांत अस्वीकृत कर अन्य वैकल्पिक स्थानों के परीक्षण के निर्देश दिये गये है। नवीन प्रस्ताव हेतु प्रारंभिक स्तर पर भी नागरिकों एवं जनप्रतिनिधियों से विचार विमर्श भी किया जाएगा।

29 हजार से ज्यादा पेड़ हटाकर बंगले बनाए जाने की तैयारी
बता दें कि भोपाल शहर में डेवलपमेंट के नाम पर लगातार पेड़ों की कटाई की जा रही थी। जिसके बाद शहर के लोगों ने जागरूकता दिखाते हुए विरोध करना शुरू कर दिया। शिवाजी नगर और तुलसी नगर इलाके में 29 हजार से ज्यादा पेड़ हटाकर मंत्रियों और अफसरों के बंगले बनाए जाने की तैयारी की जा रही थी। सरकार ने इसके लिए बजट भी आवंटित कर दिया। यहां कि जागरूक महिलाओं ने मोर्चा खोलते हुए चिपको आंदोलन की शुरुआत कर दी। इस विरोध प्रदर्शन से सरकार के मंत्री भी अब पेड़ों की कटाई के पक्ष में नहीं दिख रहे हैं।

 

jindal steel hbm ad

Latest news

5379487