Logo
election banner
हरियाणा के नारनौंद में खनौरी बॉर्डर पर कूच करने से रोकने के लिए प्रशासनिक अधिकारी का एक दल किसानों को मनाने खेड़ी चोपटा पर लगाए पक्का मोर्चा पर पहुंचा। अधिकारियों तथा किसानों के बीच करीब आधा घंटा तक वार्ता चली, लेकिन कोई हल नहीं निकला। किसान शुक्रवार को खनौरी बॉर्डर पर कूच करेंगे।

Narnaund: खनौरी बॉर्डर पर कूच करने से रोकने के लिए वीरवार को प्रशासनिक अधिकारी का एक दल किसानों को मनाने खेड़ी चोपटा पर लगाए गए पक्का मोर्चा पर पहुंचा। इस दौरान अधिकारियों तथा किसानों के बीच करीब आधा घंटा तक वार्ता चली, लेकिन कोई हल नहीं निकला। पक्का मोर्चा लगाए बैठे किसान शुक्रवार को खनौरी बॉर्डर पर कूच करने की जिद पर अड़े रहे। किसानों ने कहा कि जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं होती, तब तक वह आंदोलन जारी रखेंगे। खनौरी बॉर्डर जाने के लिए किसानों ने अपनी सभी तैयारियां पूरी कर ली है।

प्रशासन कोई खलल डालने की कोशिश न करे

किसान नेता सुरेश कोथ, विकास सीसर, काला गामड़ा, संदीप दलाल ने बताया कि किसान शुक्रवार को दो बजे खनौरी बॉर्डर के लिए चल पड़ेंगे। अगर प्रशासन ने कोई खलल डालने की कोशिश की तो बर्दाश्त नहीं की जाएगी। किसान शांतिपूर्वक अपना आंदोलन कर रहे हैं। प्रशासन भी शांतिपूर्वक तरीके से किसानों का सहयोग करें। सरकार किसानों की सभी मांगे जल्द से जल्द पूरी करें अन्यथा आंदोलन और तेज किया जाएगा। खनौरी बॉर्डर जाने के लिए किसानों ने अपनी तैयारी कर रखी है, सभी किसान राशन के साथ पूरे इंतजाम करके यहां से चलेंगे। ट्रैक्टर के साथ ट्रॉली के अंदर ही रहने का अस्थाई ठिकाना भी बनाया गया है। बॉर्डर पर पहुंच कर जो किसान नेताओं के आदेश होंगे, उसी के अनुसार काम किया जाएगा, लेकिन अबकी बार किसान अपनी मांगे पूरी करवाए बगैर घर नहीं लौटेगा।

किसान अपने ऐलान पर कायम

इससे पूर्व दोपहर बाद प्रशासन की तरफ से एसडीएम प्रवीण तेहलान, डीएसपी राज सिंह लालका, डीएसपी रविंद्र सांगवान पुलिस बल के साथ धरना स्थल पर पहुंचे और किसानों को बातचीत का न्योता दिया। किसान कमेटी के सदस्य और प्रशासन के साथ करीब आधा घंटा तक बातचीत चली। प्रशासन के अधिकारी किसानों को खनोरी बॉर्डर जाने के लिए मना कर रहे हैं लेकिन किसान खनौरी बॉर्डर पर जाने की जिद पर खड़े रहे। वार्ता पूरी तरह से असफल रही और किसान अपने ऐलान पर कायम है।

5379487