Logo
election banner
कुरुक्षेत्र लोकसभा में अब तक हुए चुनाव में भाजपा के नायब सिंह सैनी ने सबसे अधिक मतों के अंतर से जीत दर्ज की है। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में नायब सिंह सैनी तीन लाख 84 हजार 591 मतों के अंतर से जीते थे। वही इस सीट से 1980 में जनता पार्टी से मनोहर लाल ने सबसे कम मार्जन से जीत हासिल की थी।

तरूण वधवा, Kurukshetra: कुरुक्षेत्र लोकसभा में अब तक हुए चुनाव में भाजपा के नायब सिंह सैनी ने सबसे अधिक मतों के अंतर से जीत दर्ज की है। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में नायब सिंह सैनी तीन लाख 84 हजार 591 मतों के अंतर से जीते थे। इस चुनाव में कांग्रेस के निर्मल सिंह को तीन लाख चार हजार 38 मत मिले थे। वही इस सीट से 1980 में जनता पार्टी से मनोहर लाल ने सबसे कम मार्जन से जीत हासिल की थी। मनोहर लाल ने 27929 मतों से जीत दर्ज की थी। वर्ष 1980 के चुनाव में मनोहर लाल ने 1 लाख 59 हजार 196 मत प्राप्त किए थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी बिशन सिंह को 1 लाख 31 हजार 267 मत प्राप्त हुए थे।

1977 में अस्तित्व में आई कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट

कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट 1977 में अस्तित्व में आई। वर्ष 1977 में रघुबीर सिंह को तीन लाख 22 हजार 164 मिले थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी देवदत्त पूरी को 71 हजार 322 मत मिले थे। रघुबीर सिंह ने 2 लाख 50 हजार 842 मतों से जीत दर्ज की थी। इसके बाद वर्ष 1980 के चुनाव में मनोहर लाल 27929 मतों से जीते थे। वर्ष 1984 के चुनाव में हरपाल सिंह को दो लाख 75 हजार 112 मत प्राप्त हुए थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी मनोहर लाल को एक लाख 31 हजार 836 मत प्राप्त हुए थे। हरपाल सिंह ने एक लाख 43 हजार 276 मतों से जीत दर्ज की थी।

1989 में जीते गुरदयाल सिंह

1989 में गुरदयाल सिंह को तीन लाख एक हजार 640 मत मिले थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी हरपाल सिंह को दो लाख 63 हजार 452 मत प्राप्त हुए थे। गुरदयाल सिंह ने 38 हजार 188 मतों से जीत दर्ज की थी। वहीं 1991 के चुनाव में तारा सिंह को दो लाख 12 हजार 783 मत मिले थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी श्याम सिंह को एक लाख 82 हजार 753 मत मिले थे। तारा सिंह ने तीस हजार 30 मतों से जीत दर्ज की थी। 1996 के चुनाव में ओम प्रकाश जिंदल को दो लाख 92 हजार 172 मत प्राप्त हुए थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी कैलाशो सैनी को दो लाख 40 हजार 395 मत प्राप्त हुए थे। ओम प्रकाश जिंदल ने 51 हजार 777 मतों से जीत हासिल की थी।

कैलाशो सैनी दो बार बनी सांसद

1998 के चुनाव में कैलाशो सैनी को तीन लाख 33 हजार 387 मत मिले थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी कुलदीप शर्मा को एक लाख 91 हजार 867 मत प्राप्त हुए थे। कैलाशो सैनी ने 1 लाख 41 हजार 520 मतों के अंतर से जीत दर्ज की थी। इसके बाद वर्ष 1999 में कैलाशो सैनी ने ओम प्रकाश जिंदल को 1 लाख 63 हजार 810 मतों के अंतर से हराया था। वर्ष 2004 में नवीन जिंदल को तीन लाख 62 हजार 54 मत प्राप्त किए थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी अभय सिंह चौटाला को दो लाख एक हजार 864 मत प्राप्त हुए थे। नवीन जिंदल ने 1 लाख 60 हजार 190 मतों से जीत दर्ज की थी। वर्ष 2009 में एक बार फिर नवीन जिंदल ने जीत दर्ज करते हुए अशोक अरोड़ा को एक लाख 18 हजार 729 मतों के अंतर से हराया। नवीन जिंदल को तीन लाख 97 हजार 204 मत व अशोक अरोड़ा को दो लाख 78 हजार 475 मत प्राप्त हुए थे। वही वर्ष 2014 के चुनाव में राजकुमार सैनी को चार लाख 18 हजार 112 मत मिले थे जबकि उनके प्रतिद्वंदी बलबीर सैनी को दो लाख 88 हजार 376 मत मिले थे। राजकुमार सैनी ने एक लाख 29 हजार 736 मतों से जीत दर्ज की थी।

कब कौन सांसद रहा

1977-80 जनता पार्टी से रघुबीर सिंह विर्क, 1980-84 जनता पार्टी से मनोहर लाल सैनी, 1984-89 कांग्रेस से सरदार हरपाल सिंह, 1989-91 जनता दल से गुरुदयाल सिंह सैनी, 1991-96 कांग्रेस से तारा सिंह, 1996-98 हरियाणा विकास पार्टी से ओपी जिंदल, 1998-99 इनेलो से कैलाशो सैनी, 1999-04 इनेलो से कैलोशो सैनी, 2004-2009 कांग्रेस से नवीन जिंदल, 2009-2014 कांग्रेस से नवीन जिंदल, 2014-19 भाजपा से राजकुमार सैनी, 2019 में भाजपा से नायब सिंह सैनी ने इस सीट पर जीत दर्ज की।

5379487