Logo
election banner
हरियाणा के गांव खेड़ी चौपटा के पास किसानों व पुलिस के बीच उस समय टकराव हो गया, जब किसान खेड़ी चौपटा से खनौरी बॉर्डर की तरफ कूच करने का प्रयास कर रहे थे। इस दौरान दो डीएसपी, एसएचओ नारनौंद, खेड़ी चौकी प्रभारी समेत दर्जनों पुलिसकर्मियों व दर्जनों किसान गंभीर रूप से घायल हो गए।

Narnaund: गांव खेड़ी चौपटा के पास किसानों व पुलिस के बीच उस समय टकराव हो गया, जब किसान खेड़ी चौपटा से खनौरी बॉर्डर की तरफ कूच करने का प्रयास कर रहे थे। इस दौरान पुलिस ने उन्हें रोकने कोशिश की तो दोनों के बीच भिड़ंत देखने को मिली। किसानों ने खेड़ी चौपटा के मोर्चे से खनौरी बॉर्डर जाने का ऐलान किया हुआ था। इसको लेकर पुलिस प्रशासन ने पहले ही सभी रास्तों को बैरिकेट्स लगाकर बंद कर दिया। किसान जाने लगे तो पुलिस के साथ भिड़ गए, जिसमें दो डीएसपी, एसएचओ नारनौंद, खेड़ी चौकी प्रभारी समेत दर्जनों पुलिसकर्मियों व दर्जनों किसान गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को इलाज के लिए अलग-अलग अस्पताल में भर्ती करवाया। पुलिस ने स्थिति पर काबू पाने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े।

खेड़ी चौपटा में पक्का मोर्चा लगाकर धरना दे रहे थे किसान

पिछले छह दिनों से किसान खेड़ी चौपटा पर पक्का मोर्चा लगाकर धरना दे रहे थे। किसानों ने ऐलान किया था कि वे शुक्रवार को दो बजे खनौरी बॉर्डर के लिए कूच कर देंगे। किसानों के ऐलान के बाद पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए । भारी पुलिस बल तैनात किया गया और सभी रास्तों पर बैरिकेट्स लगाकर बंद कर दिया। किसान धरने से खनौरी बॉर्डर की तरफ कूच करने लगे तो जींद बरवाला मार्ग पर ही पुलिस ने उनको रोकना चाहा। जब किसान नहीं रुके तो पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया। इस पर किसानों ने भी पुलिस पर पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। इस मुठभेड़ में डीएसपी रविंद्र सांगवान, डीएसपी राजसिंह लालका, थाना प्रभारी चंद्रभान समेत दर्जनों पुलिसकर्मी घायल हो गए।

पुलिस ने आंदोलनकारी किसानों के वाहनों की निकाली हवा

पुलिस व किसानों के बीच हुई मुठभेड़ में बयानाखेड़ा के किसान संदीप सहित अन्य किसानों को काफी चोट आई हैं। सभी घायलों को अलग-अलग अस्पताल में भर्ती करवाया गया। स्थिति बेकाबू होते देखकर पुलिस ने किसानों को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले चलाए तो किसान सड़क मार्ग से वापस धरनास्थल पर जमा हो गए। किसानों ने पुलिस की बस, एक बोलेरो और फायर ब्रिगेड की गाड़ी पर तोड़फोड़ की। वहीं पुलिस ने भी किसानों के ट्रैक्टरों की हवा निकाल कर हवा भरने वाली वॉल को तोड़ दिया। पुलिस ने किसान नेता सुरेश कोथ, कुलदीप खरड़ समेत दर्जनों किसानों को हिरासत में लिया।

5379487