Logo
हरियाणा के कैथल में एसीबी की टीम ने इंतकाल के नाम पर 14 हजार की रिश्वत लेते राजौंद के कानूनगो रणधीर सिंह को गिरफ्तार किया। उसके खिलाफ भ्रष्ठाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Kaithal: भ्रष्टाचार व रिश्वतखोरी के मामले में एसीबी की टीम लगातार कार्रवाई कर रही है। रोजाना सरकारी विभागों में कार्यरत कर्मचारियों व अधिकारियों को रिश्वत के मामले में पकड़ा जा रहा है। इसी कड़ी में एसीबी अंबाला टीम ने इंतकाल के नाम पर 14 हजार की रिश्वत लेते राजौंद के कानूनगो रणधीर सिंह को गिरफ्तार किया। उसके खिलाफ भ्रष्ठाचार अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस मामले में आरोपी से पूछताछ कर रही है।

अदालत में विचाराधीन है बंटवारे का केस

रोहेडा के सुमित ने एंटी करप्शन ब्यूरो को दी शिकायत में आरोप लगाया कि उसकी जमीन के बंटवारे का केस अदालत में विचाराधीन है। अदालत से अनुमति मिल गई थी, जिसके बाद तहसील में इंतकाल के लिए दाखिल वारंट करना था। इसके लिए वह राजौंद के कानूनगो रणधीर सिंह से मिला। शुरू में तो वह चक्कर कटवाता रहा, लेकिन बाद में उसने इस काम के लिए 27 हजार रुपए रिश्वत की मांग की। बाद में 14 हजार रुपए में सौदा तय हो गया। इसके बावजूद कानूनगो उसके दो माह चक्कर कटवाता रहा। शिकायत मिलने के बाद एंटी करप्शन ब्यूरो ने टीम का गठन करते हुए कार्यकारी अभियंता गौरव कंसल को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया और कानूनगो को रंगे हाथ पकड़ने की योजना बनाई।

रिश्वत लेते ही रंगे हाथों पकड़ा कानूनगो

एसीबी की टीम के कहे अनुसार शिकायतकर्ता ने कानूनगो को फोन कर मिलने का समय लिया। शुक्रवार शाम को करीब साढ़े पांच बजे आरोपी ने सुमित को फोन करके कार्यालय बुलाया। सुमित ने उसे रिश्वत के 14 हजार रुपए थमा दिए। जैसे ही वह नोट गिनने लगा, टीम ने इशारा मिलते ही उसे काबू कर लिया। एंटी करप्शन ब्यूरो के इंस्पेक्टर विरेंद्र सिंह ने बताया कि सुमित नाम के व्यक्ति की शिकायत पर यह कार्रवाई की गई है। कानूनगो रणधीर से पाउडर लगे 14 हजार रुपए के 500-500 रुपए के नोट बरामद किए गए हैं। आरोपी के हाथ धुलवाने पर पानी लाल हो गया।

jindal steel Haryana Ad hbm ad
5379487