Logo
election banner
ऑनलाइन ठगी करने साइबर ठग लगातार नए -नए तरीके अपना कर रहे है और भोले- भाले लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं।  

दुर्ग। छत्तीसगढ़ में लगातार ऑनलाइन ठगी का मामला बढ़ाते ही जा रहा है। जिसे रोकने पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही हैं। लोगों को अभियान चलाकर जागरूक कर रहे।  इसके बावजूद भी लोग ऑनलाइन ठगी का शिकार आसानी से हो रहे है। ऐसा ही मामला दुर्ग जिले से सामने आया । जहां साइबर ठगों ने एक सहायक प्रोफेसर से 50 हजार रुपए की ऑनलाइन ठग ली। पीड़ित को ठगी का अहसास होने पर इसकी शिकायत थाने में दर्ज कराई। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच में जुट गई। मामला पुलगांव थाना क्षेत्र का है। 

मिली जानकारी के अनुसार, पीड़ित का नाम सुभाजीत सिद्वार्थ है। वह  IIT कैंपस  कुटेलाभाठा का निवासी है। बताया जा रहा है कि, 9 अप्रैल की दोपहर एक फोन आया । फोन पर बात करने वाले व्यक्ति ने खुद को  DHL कुरियर कंपनी का कर्मचारी बताया और जानकारी दी कि उन्होंने चीन के एक व्यक्ति को एक पार्सल भेजा है, जिसे मुंबई के कस्टम अधिकारियों ने रोक लिया है। इसके बाद आरोपी ने उन्हें बताया कि मुंबई पुलिस और CBI इस मामले की जांच कर रही है। इस पार्सल में कुछ आपत्तिजनक वस्तु हो सकती है। जिसे मनी लांड्रिंग के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। आरोपी ने एक नंबर पर पीड़ित की बात करवाई। आरोपी ने सहायक प्रोफेसर की फोन पर जिससे बात कराई उसने व्यक्ति ने खुद को IPS अधिकारी बताया। उसने बोला कि, इस मामले में उनके खिलाफ मनी लांड्रिंग की धारा के तहत केस की जा रही है।  

डिजिटली उसकी गतिविधियों पर रखी नजर

पीड़ित ने कहा कि, वो यात्रा कर मुंबई नहीं आ सकता है। तब आरोपियों ने कहा कि, वे लोग डिजिटली उसकी सभी गतिविधियों पर नजर रखेंगे। इसके बाद आरोपियों ने स्काइप के माध्यम से वीडियो कॉल कर पीड़ित की हर गतिविधियों  की करीब 24 घंटे से ज्यादा समय तक निगरानी की। आरोपियों ने पीड़ित के खाते में जमा रुपयों की वैधता की जांच करने के नाम पर उसे शासकीय खाते में जमा करने की बात कही।

ठगी का अहसास होने पर की शिकायत 

पीड़ित ने आरोपी के बताए गए खाते पर 50 हजार रुपए भेज दिए, लेकिन वित्तीय लेनदेन की सीमा खत्म हो जाने के कारण बाकी के रुपए नहीं गए। दूसरे दिन आरोपियों ने कहा कि उनकी जांच पूरी हो गई और वे उनके खिलाफ दर्ज  FIR को रद्द कर रहे हैं। इसके बाद आरोपियों ने वीडियो कॉल काट दिया और पीड़ित से लिए 50 हजार रुपए को वापस भी नहीं लौटाए। पीड़ित ने अपने साथ के लोगों से इस बारे में बात की तो उसे इस बात का अहसास हुआ इसके बाद पीड़ित ने अज्ञात ठगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। फिलहाल पुलिस ने शिकायत दर्ज कर साइबर ठगों की तलाश में जुट गए।

5379487