Logo
election banner
Mahadev Betting App Fraud: महादेव ऑनलाइन गेमिंग और सट्टेबाजी ऐप की चल रही ईडी जांच में छत्तीसगढ़ के कई बड़े राजनेताओं और नौकरशाहों की कथित संलिप्तता का पता चला है।

Mahadev Betting App Fraud: प्रवर्तन निदेशालय ने महादेव ऐप से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में बड़ी कार्रवाई की है। एजेंसी ने छापेमारी के बाद दुबई स्थित हवाला ऑपरेटर की 580 करोड़ से अधिक रुपए फ्रीज किए हैं। इसके अलावा 3.64 करोड़ की नकदी और कीमती सामान भी जब्त कर लिया है। यह छापे 28 फरवरी को कोलकाता, गुरुग्राम, दिल्ली, इंदौर, मुंबई और रायपुर के कई ठिकानों पर मारे गए थे। 

महादेव ऑनलाइन गेमिंग और सट्टेबाजी ऐप की चल रही ईडी जांच में छत्तीसगढ़ के कई बड़े राजनेताओं और नौकरशाहों की कथित संलिप्तता का पता चला है। 

हवाला ऑपरेटर हरि शंकर टिबरेवाल हुई पहचान
एजेंसी ने कथित घोटाले में एक हवाला ऑपरेटर हरि शंकर टिबरेवाल की जानकारी जुटाई है। टिबरेवाला कोलकाता का रहने वाला है। लेकिन दुबई में रहता है। उसने महादेव ऐप के प्रमोटरों के साथ साझेदारी की और एक कथित अवैध सट्टेबाजी ऐप- स्काईएक्सचेंज का स्वामित्व और संचालन भी किया।

जांच एजेंसी ने टिबरेवाल के 580.78 करोड़ रुपए को धन शोधन निवारण अधिनियम यानी पीएमएलए के तहत सीज किया गया है। सूत्रों के मुताबिक, तलाशी के दौरान एजेंसी को 1.86 करोड़ की नकदी और 1.78 करोड़ का कीमती सामान बरामद हुआ। इस मामले में ईडी अब तक नौ लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। ऐप के मालिक रवि उप्पल को दुबई में हिरासत में लिया गया है।

6 हजार करोड़ का कथित घोटाला
प्रवर्तन निदेशालय ने अब तक इस प्रकरण में दो चीर्जशीट दाखिल की है। यह चार्जशीट सौरभ चंद्राकर और रवि उप्पल के खिलाफ है। दोनों ऐप के प्रमोटर हैं। एजेंसी ने पहले भी मामले में कई छापे मारे थे। ईडी के अनुसार, इस मामले में अपराध की अनुमानित आय लगभग 6,000 करोड़ है।
 

5379487