Logo
गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले की छात्रा आयशा रॉय भी एमबीबीएस की पढ़ाई करने किर्गिस्तान गई हुई है। जहां बढ़ी हिंसा के बीच आयशा भी अन्य छात्रों की तरह ही फंसी उन्होंने अपने परिजनों को बताया कि, अभी वहां की हालत अत्यंत खराब है।

आकाश पवार। गौरेला-पेंड्रा-मरवाही। किर्गिस्तान में पढ़ रहे छत्तीसगढ़ के छात्रों के माता-पिता ने राजधानी बिश्केक में स्थानीय लोगों और विदेशियों के बीच झगड़े की खबरों के बीच केंद्र से उनके बच्चों की सुरक्षित वापसी सुनिश्चित करने का आग्रह किया है। गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले की छात्रा आयशा रॉय भी एमबीबीएस की पढ़ाई करने किर्गिस्तान गई हुई है। जहां बढ़ी हिंसा के बीच आयशा भी अन्य छात्रों की तरह ही फंसी है। उन्होंने वीडियो जारी कर मदद मांगी है। 

जीपीएम की छात्रा ने वीडियो जारी कर मांगी मदद 

गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले की छात्रा आयशा रॉय भी एमबीबीएस की पढ़ाई करने किर्गिस्तान गई हुई है। जहां बढ़ी हिंसा के बीच आयशा भी अन्य छात्रों की तरह ही फंसी उन्होंने अपने परिजनों को बताया कि, अभी वहां की हालत अत्यंत खराब है। उनकी जान को खतरा है और उनको वहां घर से भी निकलने नहीं मिल रहा है। इस दौरान उन्होंने सोशल मीडिया में वीडियो क़े माध्यम से छत्तीसगढ़ क़े मुख्यमंत्री विष्णु देव साय से मदद की गुहार लगाई है। ताकि उन्हें जल्द से जल्द सुरक्षित वापस अपने देश लाया जा सके। 

किर्गिस्तान में फंसे हुए है कई भारतीय बच्चे 

भारतीय स्टूडेंट्स मध्य एशियाई देश किर्गिस्तान के शहर बिश्केक में फंसे हुए हैं। वहां की लोकल जनता और अंतरराष्ट्रीय छात्रों के बीच लड़ाई का वीडियो वायरल होने के बाद से माहौल काफी बिगड़ गया है। स्थानीय नागरिक विदेशी छात्रों के साथ हिंसात्मक हो गए हैं। इस बीच छत्तीसगढ़ के भी कुछ स्टूडेंट्स वहां फंसे हुए है. वे अब अपने परिजनों औऱ सरकार से मदद की गुहार लगा रहे हैं। 
 

jindal steel Ad
5379487