Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

यादगार कहानियां

हिंदी कहानी के इतिहास में जिन कुछ कथाकारों को एक साथ पाठकों और आलोचकों का स्नेह-सम्मान मिला है, उनमें निर्मल वर्मा अग्रगण्य हैं।

यादगार कहानियां

हिंदी कहानी के इतिहास में जिन कुछ कथाकारों को एक साथ पाठकों और आलोचकों का स्नेह-सम्मान मिला है, उनमें निर्मल वर्मा अग्रगण्य हैं। प्रभात प्रकाशन ने व्यापक पाठक वर्ग को ध्यान में रखते हुए उनकी लोकप्रिय कहानियों की एक पुस्तक प्रकाशित की है।

निर्मल वर्मा की सात प्रसिद्ध कहानियां हैं और गगन गिल और निर्मल वर्मा की भूमिकाएं भी। निर्मल जी ने पहले कभी कोई किताब लिखी थी जो अप्रकाशित रह गई थी, उसे यहां पढ़ना एक ताजा अनुभव है। गगन गिल ने लिखा है, ‘इस संग्रह की कहानियों के माध्यम से मैंने निर्मल जी की कहानियों की विविध मनोभूमि, उनके सरोकार और द्वंद्व, उनकी खरोंचों और सत्य को समझने का प्रस्ताव किया है।’

इस किताब में ‘बीच बहस में’, ‘पिछली गर्मियों में’, ‘डेढ़ इंच ऊपर’, ‘लंदन की एक रात’, ‘आदमी और लड़की’, ‘दूसरी दुनिया’ जैसी कहानियां हैं जो पाठकों के लिए यादगार रही हैं। चयन अच्छा है, किंतु यदि इसमें ‘परिंदे’ और ‘लवर्स’ जैसी कहानियां भी होतीं तो और अच्छा होता।

पुस्तक-निर्मल वर्मा की लोकप्रिय कहानियां
लेखक- निर्मल वर्मा
मूल्य - 150 रुपए
प्रकाशक - प्रभात प्रकाशन, नई दिल्ली
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top