Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

क्रिकेटर की शादी और स्टाइल

खुद को दुल्हन सहित कैमरे की निगाह से बचा लेता है, लेकिन सीसीटीवी कैमरे में दर्ज हो जाता है।

क्रिकेटर की शादी और स्टाइल

उस दिन एक क्रिकेटर जी की शादी हो हुई। एक अन्य क्रिकेटर जी शादी करने की फिराक में स्कोर बोर्ड को जहमत दिए बिना इश्क के स्लॉग ओवर्स खेलते रहे। चहुं ओर मंगल गीत बजते रहे। ढोलकें थपकती रहीं। टप्पे गाये जाते रहे। मझीरे छनकते रहे। मेहंदी की रस्म हुई। सेलिब्रिटी दुल्हे दुल्हन के विवाह स्थल के इर्दगिर्द काली पोशाक पहने बाउंसर समूह मंडराते रहे। मीडिया के रणबांकुरों के हाथ कैमरे के जरिए कुछ अभूतपूर्व कर गुजरने के लिए कुलबुलाते रहे।

नाम की महिमा, गली उनके नाम पर चल रही थी....

बाउंसरों की मासपेशियां उन्हें रोकने के लिए फड़कती रहीं। स्टूडियो में बैठा एंकर न्यूज ब्रेक करने में हो रही देरी के चलते अंगुलियों के नाखून कुतरता रहा। यदि फुटेज पहुंचने में कुछ और देर होती तो संभव है कि वह पैर के नाखूनों तक को कतरने के लिए नेलकटर का काम मुंह के दांतों से चला लेता। रोमांच में डूबा आदमी कुछ भी कर सकता है।

व्‍यंग्‍य: ये चार लोग कौन हैं...

यह बात सही है कि किसी के लिए भी विवाह करना बड़ी बात होती है। इससे भी बड़ी यह बात होती है जब वह क्रिकेट के जरिए नाम और दाम कमाता हुआ प्रसद्धि के नभ में नामजद होता है। और इससे भी अधिक बहुत बड़ी बात तब घटित होती है जब वह विवाह करता हुआ खुल्लमखुल्ला छुपम-छुपाई का खेल खेलता है। मीडिया से आंख मिचौनी करता है। खुद को दुल्हन सहित कैमरे की निगाह से बचा लेता है, लेकिन सीसीटीवी कैमरे में दर्ज हो जाता है।
खेल के मैदान में एक रन बनाने के बाद जो बैट के सहारे फ्लाइंग किस दर्शक दीर्घा की ओर उड़ाता है, लेकिन ब्याह की बात करता हुआ कभी तमतमाता है तो कभी शरमा जाता है। मजे मजे में टीम को हरवाने के बाद भी वह दिग्गज खिलाड़ी बना रहता है। वह ठीक से खेले या प्रेम की पींग बढ़ाए या फिर ब्याह रचाए, यह उसकी मर्जी है। क्रिकेट भी अजब खेल है।
इसमें भीषण पराजय के बावजूद खिलाड़ी के चेहरे पर ग्लानि की शिकन नहीं उभरती। रस्सी जलने पर भी ऐंठन बनी रहती है। गर्दन की अकड़ जस की तस रहती है। शर्मनाक पराजय को वे कीमती कपड़े गिर गई धूल की तरह झाड कर चेहरे को खुशबूदार टिशु पेपर से साफ कर लेते हैं। वे खेल को सिर्फ खेल मानते हैं और उसके नतीजों को दिल से नहीं लगाते।
क्रिकेटर हर काम सलीके से करते हैं। मैदान में वे कैच पकड़ें या छोड़ें, आननफानन में आउट हों या छक्का जड़ें, पर जो करते हैं, करते हैं पूरी अदा और आनबान के साथ। जीरो पर आउट भी होते हैं पूरी शानोशौकत के साथ। प्यार का इजहार से लेकर विवाह से जुड़ी रस्मों की अदायगी तक हर काम बड़े स्टाइल से करते हैं। एक की तो शादी पूरे बाजेगाजे और धूमधड़ाके से हो गई। दूसरा फिलहाल विवाह के फुल ड्रेस रिहर्सल में तल्लीन हैं। उसे पूरी कवरेज देने के लिए मीडिया कमर कसे तैयार बैठा है और बाउंसर अपने मौके की बाट जोह रहे हैं।
Next Story
Top