Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

आलोक पुराणिक का व्यंग : मैगी के मारे

स्टार मैगी खाता दिख भी जाए, तो वह पक्के तौर पर वह खंडन कर मारेगा-जी यह मैगी नहीं है

आलोक पुराणिक का व्यंग : मैगी के मारे
वक्त-वक्त की बात है। जिस मैगी को तमाम स्टार लोग सरे-इश्तिहार खाकर बताते थे, उसी मैगी से ये स्टार लोग कतरा कर भाग रहे हैं। कोई एकाध स्टार मैगी खाता दिख भी जाए, तो वह पक्के तौर पर वह खंडन कर मारेगा-जी यह मैगी नहीं है। कुछ और है, ये ना समझें कि मैं मैगी खा रहा हूं।
मैगी खासी उलझी हुई होती है, उसे खाकर तमाम स्टार लोग और भी ज्यादा उलझ गए हैं। अमिताभ बच्चन कह उठे-जी मैंने तो दो साल पहले खायी थी। खा ली, तो क्या गुनाह कर लिया साहब। आम पब्लिक मैगी तो पैसे खर्च करके खाती रही है। अमिताभ जी को खाने के पैसे मिलते रहे हैं। बरसों पहले एक बार एक चाकलेट में कीड़े वगैरह पाये गये थे।
अमिताभ बच्चन ने फिर इश्तिहार करके बताया था-जी ये तो बहुत ही अच्छी चाकलेट है। मेरा पूरा भरोसा है इस पर। अमिताभ जी को हर उस चीज पर भरोसा हो जाता है। बड़े आदमी हैं, ज्यादा तफतीश नहीं करते। मैगी से लेकर चाकलेट पर फौरन भरोसा कर लेते हैं अमिताभ जी। सर्दियों में एक क्रीम त्वचा को चिकना बनाए रखती है, उस पर भी भरोसा कर लेते हैं अमिताभ जी।
अब अमिताभजी ही भरोसा कर चुके हैं, जिस आइटम पर, उस पर भरोसा करना तो माधुरी दीक्षित की महती जिम्मेदारी हो जाती है। माधुरीजी ने मैगी पर भरोसा कर लिया, पब्लिक ने माधुरी जी पर भरोसा कर लिया। करीना कपूर उस दिन एक इश्तिहार में दिख रही हैं, जो शेयर बाजार में कारोबार करने के लिए एक शेयर ब्रोकर फर्म को प्राथमिकता देने की बात कर रहा था।
शेयर के काम में कायदे से अपने बाप की बात पर भी भरोसा ना करना चाहिए। पर करीना कपूर की बात पर भरोसा कर लेते हैं लोग। क्या करें, इस मुल्क में बहुत ही भरोसे वाले लोग हैं। भरोसे का कारोबार चकाचक है, मैगी से लेकर, माधुरीजी से लेकर, करीना कपूरजी से लेकर निर्मल बाबा तक चल जाते हैं, इसमें। भरोसे पर, लक पर इस मुल्क की पब्लिक को बहुत यकीन है और सन्नी दियोल को भी।
सन्नी दियोल एक इश्तिहार में एक बनियान पहनकर घोषित करते हैं कि अपना लक पहनकर चलो। भाई सन्नी तुम्हे फिल्म ना मिल रहीं, कतई। तुम्हारा कारोबार धंधा ठप पड़ा हुआ है। फिर भी ये बोले जाते हो कि फलां बनियान पहनने से लक आ जाता है।
अपना लक ठप पड़ा हो, फिर भी इस मुल्क में बंदा औरों को लक के सहारे बनियान बेच सकता है। सच में हम बहुत ही भरोसे वाले लोग हैं। पर अब थोड़ा अलग टाइप का वक्त आ रहा है।
मतलब लोग परफारमेंस का रिजल्ट भी मांगने लगेंगे, देर-सबेर। सन्नी दियोल को पकड़कर पूछ सकते हैं-भाई मैंने भी पहन ली वह बनियान, मैं लकी ना हुआ। इस पर सन्नी कह सकते हैं कि भाई मैं तो मजाक कर रहा था, बनियान से लक आना होता, तो मुझे साल में एकाध फिल्म तो मिल ही जाती ना।
एक कंपनी पहले बताया करती थी कि अनुष्का के लहराते बालों का राज फलां शैंपू है। अब इस शैंपू कंपनी को खंडन करके बताना चाहिए-जी हमारा कोई लेन-देन नहीं है बांबे वेलवेट के फ्लाप होने में। माडलिंग-इश्तिहार का यही फंडा है, बंदा जब तक सफल है, उसका क्रेडिट लेने को कोई शैंपू, कोई मैगी, कोई बनियार तैयार बैठी होती है।
जैसे ही मैगी फ्लाप हो जाये, बंदा कट कर निकल लेता है। या जैसे ही बंदा फ्लाप हो जाये, शैंपू कंपनी भी कटकर निकल सकती है। प्रीति जिंटा भी कह रही हैं, जी मैं तो बारह साल पहले करती थी मैगी का इश्तिहार,मेरा क्या लेना-देना मैगी से। मानेंगे जी, हम सब मानेंगे। भरोसा करेंगे, हम सब भरोसा करेंगे। बताया ना बहुतै भरोस वाले लोग हैं हम।
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
Next Story
Top