Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

राहुल गांधी को बीजेपी नेता ने लिखा पत्र, कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कायर बताना करोड़ों देशवासियों का अपमान

राहुल गांधी ने लिखा था कि अब ये साफ हो गया है कि चीन ने गलवान में जो हमला किया वो पहले से प्लान किया हुआ था। भारत सरकार इस दौरान सोती रही और समस्या को टालती रही।

राहुल गांधी को बीजेपी नेता ने लिखा पत्र, कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कायर बताना करोड़ो देशवासियों की भावना का अपमान
X
राहुल गांधी को बीजेपी नेता ने लिखा पत्र, कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कायर बताना करोड़ो देशवासियों की भावना का अपमान

भारत और चीन के मसले में राहुल गांधी लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साध रहे हैं। इसी क्रम में उन्होंने प्रधानमंत्री को कायर तक बोल दिया। इसका जवाब देते हुए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष विनय सहस्त्रबुद्धे ने राहुल गांधी को पत्र लिखकर कहा है कि देश के प्रधानमंत्री को कायर बताकर उन्होंने देश के करोड़ों देशवासियों की भावनाओं और उनकी एकजुटता का अपमान किया है।

चीन के राजदूत से लेते हैं जानकारी

विनय सहस्त्रबुद्धे ने पत्र में लिखा है कि राहुल जी, जिम्मेदार राजनेता जानकारी लेकर और तथ्यों को समझकर निष्कर्ष निकालते हैं या आरोप लगाते हैं. आपने न जानकारी ली, न तथ्य समझ लिए. आप तो चीन के राजदूत को संपर्क करते हुए जानकारी लेने में विश्वास करते हैं और शायद वही आपको जानकारी देते हैं।

चीन का बढ़ाना चाहते हैं हौसला

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को उल्टा सीधा बोलकर क्या आप चीन का हौसला बढ़ाना चाहते हैं? पहले भी आपने प्रधानमंत्री और हमारे पार्टी के नेताओं को डरपोक या भागने वाले या छिपे हुए कहा है।

स्कूली भाषा आपकी गरिमा को पहुंचाती है ठेस

उन्होंने लिखा कि ली बच्चे जैसी यह भाषा आपकी और आपके दल की गरिमा को ठेस पहुंचाती हैं। प्रधानमंत्री तो 17-18 घंटे काम करते हैं। उनकी यात्रा और उनके कार्यक्रम सभी जानते हैं। उनका जीवन खुली किताब हैं, गूढ़ कथा नहीं। न उन्हें छिपने की आवश्यकता हैं न कुछ छिपाने की।

राहुल गांधी ने वीडियो जारी कर किया था अपमान

राहुल गांधी ने लिखा था कि अब ये साफ हो गया है कि चीन ने गलवान में जो हमला किया वो पहले से प्लान किया हुआ था। भारत सरकार इस दौरान सोती रही और समस्या को टालती रही। इसके अलावा उन्होंने लिखा कि सरकार की लापरवाही की कीमत हमारे जवानों को भुगतनी पड़ी।


Next Story