Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आईसीएमआर बना रही कोरोना वायरस की 40 वैक्सीन, ये किया बड़ा खुलासा

मंत्रालय का कहना है कि इनमें से 20 प्रतिशत मामलों में मरीजों को आईसीयू की आवश्यकता है। देश में वर्तमान में 1671 मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट और महत्वपूर्ण देखभाल और उपचार की आवश्यकता है।

आईसीएमआर बना रही कोरोना वायरस की 40 वैक्सीन, ये किया बड़ा खुलासा
X

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को कोरोना वायरस पर प्रेस कॉन्फ्रेस कर मीडिया को जानकारी दी। स्वास्थ्य विभाग ने कहा कि 29 मार्च 2020 को देश में 979 पॉजिटिव मामले थे, जिसकी संख्या बढ़कर अब 8356 हो गई है।

मंत्रालय का कहना है कि इनमें से 20 प्रतिशत मामलों में मरीजों को आईसीयू की आवश्यकता है। देश में वर्तमान में 1671 मरीजों को ऑक्सीजन सपोर्ट और महत्वपूर्ण देखभाल और उपचार की आवश्यकता है। सरकार इस वायरस से निपटने की योजना बना रही है।

मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल का कहाना है कि 9 अप्रैल के डाटा के अनुसार, यदि हमें 1100 बेड की जरूरत थी तो हमारे पास 85 हजार बेड उपलब्ध थे। आज जब हमें 1671 बेड की जरूरत है तो हमारे पास 601 कोविड अस्पतालों में 1 लाख 5 हजार बेड उपलब्ध हैं।

आईसीएमआर बना रही कोरोना वायरस की 40 वैक्सीन

आईसीएमआर के डॉ. मनोज मुढ़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस दौरान पत्रकारों को जानकारी दी कि बीते 5 दिनों में, जांच किए गए सैंपलों की औसत संख्या 15,747 हरदिन रही है। वहीं, पॉजिटिव आने वाले सैंपलों की औसत संख्या 584 रही है।

डॉ. मनोज मुढ़ेकर ने आगे कहा कि 40 से अधिक वैक्सीन को विकसित करने का काम चल रहा है, लेकिन इनमें से कोई भी अगले स्टेज पर नहीं पहुंच सकी है। अभी के लिए कोई वैक्सीन नहीं है।

इंटर स्टेट या इंट्रा स्टेट कार्गो की आवाजाही पर कोई रोक नहीं

गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव पुण्य सलिला श्रीवास्तव ने कहा कि गृह मंत्रालय ने आज राज्यों और केंद्र सरकारों को स्पष्ट किया है कि इंटर स्टेट या इंट्रा स्टेट कार्गो की आवाजाही पर कोई रोक नहीं है। चाहे आवश्यक वस्तु या किसी भी तरह का सामान ट्रांसपोर्ट हो रहा हो।

Next Story