Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Punjab Election 2022: पठानकोट रैली में पीएम मोदी का कांग्रेस पर हमला, लिया नवां पंजाब बनाने का संकल्‍प

पंजाब के पठानकोट में 20 फरवरी को होने वाले मतदान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को एक रैली को संबोधित किया। जहां पीएम नरेंद्र मोदी ने पंजाब की जनता को सिर्फ एक मौका देने की बात कही।

Punjab Election 2022: पठानकोट रैली में पीएम मोदी का कांग्रेस पर हमला, लिया नवां पंजाब बनाने का संकल्‍प
X

Punjab Election 2022: पंजाब (Punjab) के पठानकोट (Pathankot) में 20 फरवरी को होने वाले मतदान से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने बुधवार को एक रैली को संबोधित किया। जहां पीएम नरेंद्र मोदी ने पंजाब की जनता को सिर्फ एक मौका देने की बात कही। भाजपा को पांच साल सेवा करने का मौका दो। इस दौरान पीएम मोदी ने एक बार फिर नए पंजाब का संकल्प लिया तो वहीं कांग्रेस पर जमकर निशाना भी साधा। प्रियंका गांधी भी पंजाब के दौरे पर हैं।

पीएम मोदी ने अपनी जनसभा की शुरुआत में संत रविदास को उनकी जयंती पर याद किया। नवां पंजाब बनाने के संकल्प पर पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि नया और समृद्ध पंजाब बनाना हमारा लक्ष्य है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार संत रविदास जी के बताए रास्ते पर चल रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पठानकोट से जुड़ी अपनी यादों पर चर्चा की। उन्होंने कहा कि माझा की इस धरती ने मां जैसा प्यार और स्नेह दिया है।

रैली में पीएम मोदी ने जनता से यह भी कहा कि अगर मैं कड़वी बात कहूं तो बुरा नहीं लगेगा, है ना। जिस तरह देश के अलग-अलग राज्यों की जनता ने उन्हें सेवा का मौका दिया, पंजाब ने उन्हें ऐसा मौका नहीं दिया। मोदी ने पठानकोट की जनसभा में कहा कि मैं यहां आया करता था। मैं आपकी रोटी खाकर बड़ा हुआ हूं, जिस तरह से मुझे कई राज्यों में बीजेपी की सेवा करने का मौका मिला, वैसा मौका मुझे पंजाब में नहीं मिला। पहले पंजाब में हम छोटे साझीदार, छोटी पार्टियों के रूप में थे। हमने अपनी पार्टी को नुकसान पहुंचाकर पंजाब के कल्याण को प्राथमिकता दी थी। हम तो एक समर्पित लोग हैं, हमें विरासत पर भी गर्व है, विकास की जिम्मेदारी भी हमारे सामने है।


पीएम मोदी ने आगे कहा कि हम गुरुओं के प्रकाश पर्व को पूरी आस्था से सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में मनाते हैं। भारत की इस विरासत को पूरी दुनिया में पहचान कराते हैं। आगे कहा कि बांग्लादेश की लड़ाई में 90,000 पाकिस्तान के सैनिकों ने हिंदुस्तान की सेना के सामने घुटने टेक दिए। तब दिल्ली में बैठी सरकार में दम होता तो कह देते कि ये सैनिक तुम्हें तब मिलेंगे, जब हमें गुरुनानक देव जी की तपोभूमि वापस मिलेगी। तीन-तीन मौके उन्होंने गंवाए। 1965 की लड़ाई में भारत की सेना लाहौल में झंडा फहराने की ताकत के साथ आगे बढ़ रही थी। अगर तब थोड़ा दो कदम आगे जाते तो गुरुनानक देव जी की तपोभूमि हमारे पास होती।

आगे कहा कि दूसरा मौका भी वो चूक गए। जब देश का विभाजन हुआ तब कांग्रेस के लोग थे, क्या इन्हें इतनी समझ नहीं आई कि सीमा से 6 किमी दूरी पर स्थिति गुरुनानक देव जी की तपोभूमि को भारत में रखा जाए। कांग्रेस के लोगों ने पाप किया है, हमारी भावनाओं को कुचला है। कांग्रेस पार्टी की करतूतों का साथ देने के लिए अब उन्हें पार्टनर- इन- क्राइम भी मिल गया है। आप देखिए, कितनी समानता है, दोनों दलों में।

आगे कहा कि जब अयोध्या में राम मंदिर बनता है, तो दोनों मिलकर विरोध करते हैं। जब भारत के जांबाज अपना शौर्य दिखाते हैं, तो दूसरी पार्टी के नेता वही बोलते हैं जो पाकिस्तान से बोला जाता है। एक ने पंजाब के युवाओं को नशे के जाल में धकेला, दूसरी पार्टी, दिल्ली के युवाओं को शराब का लती बना रही है एक ने पंजाब को लूटा औऱ दूसरी दिल्ली में एक के बाद एक घोटाले कर रही है। ये दोनों एक ही थाली के चट्टे-बट्टे होने के बावजूद अब ये दोनों पार्टियां मिलकर नूरा-कुश्ती कर रहे हैं। सच्चाई ये है कि कांग्रेस अगर ओरिजनल है, दूसरी पार्टी उसकी फोटो कॉपी है। पंजाब के लोगों ने पक्का मन बना लिया है कि इस बार भाजपा जैसी अनुभवी पार्टी। देशहित में पंजाब हित में काम करने वाली पार्टी को मौका देना है।

और पढ़ें
Next Story