Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

शर्मनाक: ओडिशा में नाबालिग के साथ पुलिस और मीडियाकर्मियों ने किया गैंगरेप

शिकायत में महिला ने बताया कि मार्च और अप्रैल के महीने में उसकी नाबालिग बेटी के साथ गैंगरेप किया गया है। पीड़िता की मां ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के दो पत्रकार, दो सुरक्षा कर्मी, एक पुलिस अधिकारी और उनके अन्य साथियों ने रेप किया है।

शर्मनाक: ओडिशा में नाबालिग के साथ पुलिस और मीडियाकर्मियों ने किया गैंगरेप
X
नाबालिग लड़की रेप, फ़ोटो प्रतीकात्मक

ओडिशा के भुवनेश्वर से एक शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट के भुवनेश्वर में लॉकडाउन के दौरान कथिततौर पर पुलिस और मीडिया कर्मियों ने एक नाबालिग के साथ गैंगरेप किया है। नाबालिग पीड़िता की मां ने महिला पुलिस स्टेशन में इस बारे में शिकायत की है।

पीड़ित की मां की शिकायत के आधार पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। इस मामले के संबंध में भुवनेश्वर के डीसीपी उमाशंकर दास ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि पीड़ित नाबालिग लड़की की मां ने 30 अगस्त को महिला पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई।

शिकायत में महिला ने बताया कि मार्च और अप्रैल के महीने में उसकी नाबालिग बेटी के साथ गैंगरेप किया गया है। पीड़िता की मां ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के दो पत्रकार, दो सुरक्षा कर्मी, एक पुलिस अधिकारी और उनके अन्य साथियों ने रेप किया है। पुलिस ने बताया कि पीड़िता अपने परिवार के साथ इंफोसिटी

थाना इलाके में रहती है। लॉकडाउन में कोविड-19 ड्यूटी पर तैनात 8 लोगों ने नाबालिग के साथ रेप किया है। ये लोग लड़की को अकेला पाकर तमंचे की नोक पर अपने साथ आइसोलेट एरिया में ले गए। इसके बाद उन्होंने रेप की वारदात को अंजाम दिया। आरोपियों ने पीड़िता को डराया कि अगर इसके बारे में उसने किसी को बताया कि वह उसे मार देंगे। पीड़िता की मां के अनुसार, घटना के बाद से पीड़िता डिप्रेशन में है और उसने डर के चलते इसके बारे में किसी को नहीं बताया।

बताया जा रहा है कि पीड़िता ने अपने साथ हुई घटना के बारे में अपने पिता से परामर्श के बाद सारी बात बताई। पीड़िता की मां की शिकायत के बाद पुलिस ने आईपीसी और पॉक्सो एक्ट के तहत आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए स्पेशल टीम का गठन किया है। महिला पुलिस ने शुक्रवार को पीड़िता का मेडिकल एग्जामिनेशन कराया और स्थानीय मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में पीड़िता का पूरा बयान दर्ज किया गया है।

Next Story