Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Mausam Ki Jankari : दीपोत्सव में खलल डाल सकता है चक्रवाती तूफान क्यार, मुंबई और गोवा में धूल भरी आंधी के साथ बारिस की संभावना

दिवाली (Diwali) के मौके पर आज चक्रवाती तूफान क्यार (Cyclone Kyarr ) का असर मुंबई (Mumbai), गोवा सहित भारत के कई तटवर्ती इलाकों में दिखने की संभावना है।

Mausam Ki Jankari : दीपोत्सव में खलल डाल सकता है चक्रवाती तूफान क्यार, मुंबई और गोवा में धूल भरी आंधी के साथ बारिस की संभावना

दिवाली के दिन चक्रवाती तूफान क्यार का असर मुंबई सहित भारत तटवर्ती इलाकों में देखने को मिल सकता है। भारतीय मौसम विभाग ने रविवार शाम अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान क्यार के उग्र रूप ले लेने की संभावना जतायी है। मिली जानकारी के अनुसार मुंबई, गोवा और केरल के तटीय इलाकों में इसका असर देखने को मिल सकता है।

मुंबई और गोवा में रविवार को दीपोत्सव के समय तेज हवाओं के साथ भारी बारिस की संभावना जताई जा रही है। मौसम विभाग के अनुसार मुंबई के 540 किमी दक्षिण-पश्चिम में और सलालाह (ओमान) के 1500 किमी पूर्व में यह तूफान स्थित है। जिसके यह 3 घंटे के बाद सुपर साइक्लोनिक तूफान में बदलने की संभावना है। हालांकि मुंबई में इसका प्रभाव बहुत अधिक नहीं दिखेगा फिर भी इसका हल्का-फुल्का असर भी आज दिवाली में खलल डाल सकता है।

तटरक्षक बल का मछुवारों को तटों से दूर रहने का निर्देश

'क्यार' के मद्देनजर पश्चिमी तट पर भारतीय तटरक्षक बल खोज और बचाव अभियान चला रहे हैं। इस दौरान वह उन्होंने मछली पकड़ने वाली नौकाओं की तलाश तेज कर दी है। अभी तक उन्होंने कई मछुआरों को सुरक्षित बचा लिया है। समुद्र से तटरक्षक जहाजों को स्थानांतरित किया जा रहा है।

रत्नागिरी के तट तक पहुंचा क्यार

माना जा रहा है कि अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान 'क्यार' की वजह से महाराष्ट्र, गोवा और कर्नाटक में कई जगहों पर पिछले कुछ दिनों से बारिश हो रही है। चक्रवाती तूफान 'क्यार' आज सुबह भारत के दक्षिण में रत्नागिरी के तट तक पहुंच गया है। मौसम विभाग का अनुमान है कि तूफान की वजह से हवाओं की रफ्तार 170-180 किमी हो सकती है।

Next Story
Share it
Top