Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Independence Day 2021 History: आखिर क्यों खास है भारत के स्वतंत्रता दिवस का इतिहास, जानें 12 बजकर एक मिनट पर क्या हुआ था

Independence Day 2021 History: हर साल 15 अगस्त (15 August) के दिन देश की स्वतंत्रता का जश्न (celebration of independence day) पूरा देश मिलकर मनाता है। हर साल लाल किले (Red Fort) की प्राचीर से देश के प्रधानमंत्री (Prime Minister) संबोधित करते हैं।

Independence Day 2021 History: आखिर क्यों खास है भारत के स्वतंत्रता दिवस का इतिहास, जानें 12 बजकर एक मिनट पर क्या हुआ था
X


Independence Day 2021 History: हर साल 15 अगस्त (15 August) के दिन देश की स्वतंत्रता का जश्न (celebration of independence day) पूरा देश मिलकर मनाता है। हर साल लाल किले (Red Fort) की प्राचीर से देश के प्रधानमंत्री (Prime Minister) संबोधित करते हैं। इस बार 15 अगस्त 2021 दिन रविवार को मनाया जाएगा। कोरोना की वजह से बच्चे शामिल नहीं होंगे। लेकिन इस बार टोक्यो ओलंपिक में गए खिलाड़ी खास मेहमान होंगे। ऐसे में जिस आजादी का जश्न हम हर साल मनाते हैं उसे हासिल करने में कितना कुछ देश ने खोया, वो अपने आप में एक इतिहास है। शायद देश पर कुर्बान होने वालों के परिवार इस दर्द को बखूबी जानते होंगे।

15 अगस्त 1947 को पहले बार जब देश को आधी रात में आजादी मिली तो सबसे पहले भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने लाल किले के लाहौरी गेट के ऊपर राष्ट्रीय ध्वज फहराया था। भारत को आजादी देने पहले ही लोगों को विभाजन की जानकारी मिल गई थी। भारत की जनगणना 1951 के अनुसार, 72,26,000 मुसलमान भारत छोड़कर पाकिस्तान चले गए थे और 72,49,000 हिंदू और सिख भारत पहुंचे थे। इस दिन झंडा फहराना, परेड निकालना और सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होता है।

भारत में 15 अगस्त को क्या हुआ था (what happened on 15 august in india)

15 अगस्त 1947 को ही भारत को स्वतंत्रता मिली थी। यानी देश आंग्रेजों से आजाद हुआ था। और इस दिन को भारतीय इतिहास में एक महत्वपूर्ण दिन माना जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार, 15 अगस्त 2021 को लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करेंगे।

15 अगस्त का महत्व (importance of 15 august)

15 अगस्त को भारत में स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है। क्योंकि इस दिन देश को अंग्रेजों के अत्याचारों से मुक्ति मिली थी। इसीलिए इस दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है।




स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को ही क्यों मनाया जाता है (Why Independence Day is celebrated on 15th August only)

भारत में स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को मनाया जाता है। क्योंकि हमारे देश को 15 अगस्त 1947 को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली थी। अगर नेहरू की बात मानी होती तो 26 जनवरी और लॉर्ड माउंटबेटन की चली होती तो 30 जून को देश आजाद हो गया होता। हर साल भारत के प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित करते हैं और राष्ट्रीय ध्वज फहरते हैं। जो एक परंपरा है।

आजादी के कितने साल (how many years of independence)

देश को आजादी के 74 साल पूरे हो गए हैं। इसलिए हम 15 अगस्त 2021 को 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाने जा रहे हैं।

स्वतंत्रता दिवस की कौन सी वर्षगांठ (which anniversary of independence day)

भारत का स्वतंत्रता दिवस हर साल 15 अगस्त को मनाया जाता है। 1947 में अब तक हर साल ये जश्न मनाया जाता है। इस बार भारत आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाएगा। यह भारत का राष्ट्रीय पर्व है।




भारत को आधी रात को क्यों आजाद किया (Why did India get independence at midnight)

भारत की आजादी के साथ नए मुल्क पाकिस्तान का भी जन्म हुआ। लेकिन दोनों देश अपनी आजादी का जश्न अलग अलग दिन मनाते हैं। पाकिस्तान में 14 अगस्त और भारत में 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है। 14 और 15 अगस्त 1947 की आधी रात यानी 12 बजे नेहरू ने ऐतिहासिक भाषण दिया था। 12 बजकर एक मिनट पर एक नए देश का निर्माण हुआ, जिसे आजाद हिंदुस्तान कहा गया।

Next Story