Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haribhoomi-Inh Exclusive: 'चक्रव्यूह में अभिमन्यु 'चर्चा' प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ देखें यहां...

Haribhoomi-Inh Exclusive: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम चर्चा में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने आज ग्वालियर के महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों को बीजेपी संगठन में जगह नहीं मिलने पर बातचीत की।

Haribhoomi-Inh Exclusive: चक्रव्यूह में अभिमन्यु चर्चा प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी के साथ देखें यहां...
X

Haribhoomi-Inh Exclusive: हरिभूमि-आईएनएच के खास कार्यक्रम चर्चा में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने आज ग्वालियर के महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों को बीजेपी संगठन में जगह नहीं मिलने पर बातचीत की। 'चक्रव्यूह में अभिमन्यु' में आपका स्वागत है, और आज के हमारे 'अभिमन्यु हैं ग्वालियर के महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया… 17 साल कांग्रेस से सांसद रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया अब बीजेपी की टिकट पर राज्यसभा में हैं… 9 मार्च 2020 को उन्होंने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफ़ा दे दिया और 11 मार्च 2020 को उन्होंने BJP की सदस्यता ग्रहण कर ली… नतीजतन मध्य प्रदेश में कमलनाथ सरकार गिर गई और फिर उपचुनाव के बाद फिर शिवराज सरकार आई… ज्योतिरादित्य सिंधिया अपने समर्थकों को शिवराज कैबिनेट में जगह दिलवाने में तो कामयाब रहे लेकिन बीजेपी संगठन में समर्थकों को जगह दिलाने में नाकाम रहे…

कार्यक्रम चर्चा में प्रधान संपादक डॉ. हिमांशु द्विवेदी ने मध्य प्रदेश ब्यूरो चीफ अजय त्रिपाठी , बीजेपी नेता मोहन सिंह राठौर, कांग्रेस पूर्व मंत्री चौधरी राकेश सिंह और राजनैतिक विश्लेषक डॉ. राकेश पाठक से खास चर्चा की। खास कार्यक्रम चर्चा के दौरान इन मेहमानों से कई सवाल पूछे...

चक्रव्यूह में अभिमन्यु

चर्चा


बीजेपी में ग्वालियर के महाराज ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों को नहीं मिली जगह

मध्य प्रदेश में बीजेपी की नई कार्यकारिणी का गठन हो चुका है। जिसमें बीते दिनों भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थकों को जगह नहीं मिली है। जबकि वो अपने समर्थकों को शिवराज कैबिनेट में जगह दिलवा चुके हैं और खुद भी भाजपा से राज्यसभा सांसद बन चुके हैं। उनके समर्थकों को वीडी शर्मा की टीम में जगह नहीं दी गई है। जानकारी के लिए बता दें कि सिंधिया को 10 महीने हो चुके हैं भाजपा में आए। शिवराज कैबिनेट हो या फिर केंद्र की राजनीति दोनों में सफल रहे हैं। लेकिन हाल ही में एमपी भाजपा संगठन में कोई जादू नहीं दिखा। एक साल बाद प्रदेश के कप्तान बने वीडी शर्मा ने अपनी टीम का विस्तार किया लेकिन सिंधिया टीम को जगह और जिम्मेदारी से दूर रखा। इसकों लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। इतना ही नहीं कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा है कि बीजेपी कार्यकारिणी घोषित, एक भी सिंधिया समर्थक को जगह नहीं। सिंधिया जी, अब उसूलों पर आंच तो नहीं आती...

Next Story