Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Haribhoomi-Inh Exclusive:मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार का पर्दाफाश, देखें दल-बदल तेरा भी मेरा भी चर्चा प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी के साथ

प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने 'दल-बदल' तेरा भी मेरा भी चर्चा में मध्यप्रदेश उपचुनाव की चर्चा की। इस चर्चा में उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता लक्ष्मण सिंह, बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशपाल सिंह सिसोदिया, बसपा की विधायक रामबाई और वरिष्ठ पत्रकार अरविंद तिवारी शामिल हुए।

Haribhoomi-Inh Exclusive:मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार का पर्दाफाश, देखें दल-बदल तेरा भी मेरा भी चर्चा प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी के साथ
X
Haribhoomi-Inh Exclusive:मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार का पर्दाफाश, देखें दल-बदल तेरा भी मेरा भी चर्चा प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी के साथ

Haribhoomi-Inh Exclusive: मध्यप्रदेश की राजनीति में कमलनाथ सरकार का अजीबोगरीब खेल चल रहा है। जिस बात को लेकर कमलनाथ सरकार बीजेपी पर हमला बोलती नजर आ रही थी, आज खुद उसी राह पर चलती हुई दिख रही है। मध्यप्रदेश में सरकार गिरने के बाद से अपने ही कांग्रेस मंत्रियों द्वारा धोखे का शिकार हुई कमलनाथ सरकार अपने उन मंत्रियों को गद्दार कहकर संबोधित करती आ रही है। लेकिन आज जब उपचुनाव की घोषणा हुई, तो कमलनाथ सरकार के 27 प्रत्याशियों की लिस्ट में 11 नाम ऐसे हैं, जो दूसरी पार्टी के नेता रह चुके हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि अगर आप खुद साफ-सुथरे नहीं हैं तो फिर दूसरे पर आरोप क्यों लगाते हैं? जिस बात को लेकर कांग्रेस सरकार इतने दिनों से कूद रही थी, आज खुद वही काम करके बीजेपी नेताओं को बोलने का मौका क्यों दे रही है?

इन्ही सवालों के साथ प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने 'दल-बदल' तेरा भी मेरा भी चर्चा की शुरूआत की। बता दें कि इस चर्चा में उनके साथ कांग्रेस के वरिष्ठ नेता लक्ष्मण सिंह, बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशपाल सिंह सिसोदिया, बसपा की विधायक रामबाई और वरिष्ठ पत्रकार अरविंद तिवारी शामिल हुए।

कांग्रेस-बीजेपी ने दल बदलने वालों को दिया टिकट

इस चर्चा के दौरान प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के ट्वीट भी दिखाए। इस ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने लिखा है कि भाजपा ने उपचुनावों के अपने उम्मीदवार तय कर दिए। उनमें से २५ ग़द्दार, ०३ वफ़ादार, २५ बिकाऊ, ०३ टिकाऊ।

इसके साथ ही उन्होंने लोकतंत्र बचाओ का हैशटैग भी इस्तेमाल किया है। हालांकि इसमें उन्होंने कांग्रेस पार्टी के लिस्ट के बारे में कोई बात नहीं की जिसमें 27 में से 11 उम्मीदवारों को दिग्विजय सिंह के ही भाषा में गद्दार कहा जा सकता है। बता दें कि ये 11 नेता बीजेपी व अन्य पार्टी से कांग्रेस में आए हैं।

कांग्रेस में अपने अनुभवी नेताओं की कमी

इस दौरान प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने काफी महत्वपूर्ण सवाल किया। उन्होंने पूछा कि क्या कांग्रेस के पास अपने अनुभवी नेताओं की कमी थी जो इस चुनाव में एक चुनौती की भांति चुनाव लड़ने में सक्षम हो सकते थे?

प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी ने इस चर्चा के दौरान ऐसे कई सवाल किए जिसके जवाब जानना मध्यप्रदेश की जनता के लिए काफी जरूरी है। हालांकि इन जवाबों के लिए आपको प्रधान संपादक डॉ हिमांशु द्विवेदी के साथ इस चर्चा से जरूर जुड़ना चाहिए। इस चर्चा से जुड़ने के लिए नीचे दिए गए वीडियो को जरूर देखें।


Next Story