Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

धूमधाम से मनाई जा रही हैं बकरीद, PM मोदी ने देशवासियों को दी बधाई, लोगों ने जामा मस्जिद में अदा की नमाज

देश भर में आज बकरीद (Bakrid) का पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस मौके पर दिल्ली की जामा मस्जिद में नमाज अदा की गई, जामा मस्जिद (Jama Masjid) में भारी संख्या में नमाजी जुटे वहीं देश की कई मस्जिदों में नमाज अदा की गई। बकरीद के त्योहार का मुस्लिम धर्म (Muslim Religion) में बहुत महत्व है।

धूमधाम से मनाई जा रही हैं बकरीद, PM मोदी ने देशवासियों को दी बधाई, लोगों ने जामा मस्जिद में अदा की नमाज
X

देश भर में आज बकरीद (Bakrid) का पर्व बड़ी धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस मौके पर दिल्ली की जामा मस्जिद में नमाज अदा की गई, जामा मस्जिद (Jama Masjid) में भारी संख्या में नमाजी जुटे वहीं देश की कई मस्जिदों में नमाज अदा की गई। बकरीद के त्योहार का मुस्लिम धर्म (Muslim Religion) में बहुत महत्व है। इस त्योहार को ईद-उल-अजहा (Eid-ul-Adha) या कुर्बानी का त्योहार भी कहा जाता है।

बकरीद रमजान के पाक महीने के ठीक 70 दिन बाद मनाई जाती है। इस्लामिक कैलेंडर (Islamic Calendar) के अनुसार यह ईद साल में दो बार मनाई जाती है। एक ईद उल जुहा और दूसरी ईद उल फितर। ईद उल फितर को मीठी ईद के नाम से भी जाना जाता है। यह रमजान के अंत में मनाई जाती है। और बकरीद मीठी ईद के करीब 70 दिन बाद मनाई जाती है। मस्जिदों में नमाज अदा करने के बाद बकरे की कुर्बानी दी जाती है।

वही बकरीद के मौके को देखते हुए दिल्ली प्रशासन और पुलिस ने व्यापक इंतजाम किए हैं। ताकि लोगों को किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। पुलिस (Delhi Police) ने मुस्लिम बहुल इलाकों में अतिरिक्त सुरक्षा व्यवस्था की है, धार्मिक स्थलों के आसपास यातायात गतिविधियों को सामान्य करने के लिए अतिरिक्त पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है।

वही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने ईद-उल-अजहा के पर्व पर देशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दीं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा ईद मुबारक! ईद-उल-अजहा की बधाई। यह त्यौहार हमें मानव जाति की भलाई के लिए सामूहिक कल्याण और समृद्धि की भावना को आगे बढ़ाने की दिशा में काम करने के लिए प्रेरित करता है। इसके अलावा ईद के मौके पर उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू (Vice President Venkaiah Naidu) ने देशवासियों को ईद की बधाई दी है।

उन्होंने कहा, 'ईद-उल-जुहा' पारंपरिक श्रद्धा और उल्लास के साथ मनाया जाने वाला बलिदान का त्योहार ईश्वर के प्रति परम भक्ति का प्रतीक है। यह लोगों को अपनी भावनाओं को साझा करने और एक-दूसरे की देखभाल करने और जरूरतमंद और गरीब लोगों के प्रति सहानुभूति दिखाने का अवसर प्रदान करता है।

और पढ़ें
Next Story