Logo
election banner
CAA Citizenship: बुधवार(15 मई) को नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के तहत लोगों को पहली बार भारतीय नागरिकता दी गई। 14 लोगों को भारतीय नागरिकता का प्रमाणपत्र सौंपा गया। 

CAA Citizenship: बुधवार(15 मई) को नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के तहत लोगों को पहली बार भारतीय नागरिकता दी गई। केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला द्वारा 14 लोगों को भारतीय नागरिकता का प्रमाणपत्र सौंपा गया। केंद्र द्वारा कानून को अधिसूचित करने के लगभग दो महीने बाद धार्मिक उत्पीड़न का शिकार होकर भारत पहुंचे लोगों को भारतीय नागरिकता प्रदान की गई है। 

केंद्रीय गृह सचिव ने सौंपा नागरिकता प्रमाणपत्र
केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने व्यक्तिगत रूप से दिल्ली में आवेदकों को नागरिकता प्रमाण पत्र सौंपे। इंटरैक्टिव सत्र के दौरान, उन्होंने सीएए की मुख्य विशेषताओं पर प्रकाश डाला, और उत्पीड़ित अल्पसंख्यकों को शरण और समर्थन देने के इसके प्रावधानों पर जोर दिया। भल्ला के साथ  डाक सचिव, इंटेलिजेंस ब्यूरो के निदेशक, भारत के रजिस्ट्रार जनरल और अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस मौके पर मौजूद रहे।

नागरिकता मिलने पर बहुत खुशी हो रही है
नागरिकता मिलने के बाद पाकिस्तान से पहुंची भावना ने कहा कि मुझे नागरिकता मिली है तो बहुत अच्छा लग रहा है। अब नागरिकता मिलने के बाद हम आगे बढ़ेंगे। भारत में आने के बाद  यहीं हमारी पढ़ाई लिखाई कर रही हूं। जब सीएए पास हुआ था तो हमें बहुत खुशी हुई थी। अब मुझे नागरिकता मिलने के बाद उससे भी  ज्यादा खुशी हो रही है। मैं 2014 में भारत आई थी। मैं जब पाकिस्तान में थी तो बहुत दिक्कतें थीं। लड़कियां वहां ना तो पढ़ पाती थी और ना ही घर से निकल पाती थी। अगर घर से निकलना भी होता था तो बुर्का पहनकर निकलना होता था। 

'अब मेरे बच्चे पढ़ लिख सकेंगे'
नागरिकता प्रमाण पत्र प्राप्त करने अर्जुन ने बताया कि मैं 2014 में दिल्ली आया था। इससे पहले मैं 4 साल तक गुजरात में रहा। मुझे बहुत खुशी है कि मुझे नागरिकता मिल गई। मैं पढ़ाई नहीं कर सका क्योंकि मेरे पास कोई प्रमाण पत्र नहीं था। मैं छोटी-मोटी नौकरी कर रहा था, अब कम से कम मेरे बच्चे पढ़ सकेंगे। मैं पीएम मोदी और अमित शाह को बहुत बहुत धन्यवाद देता हूं।

ऐसा लग रहा है मुझे नया जीवन मिल गया है
नागरिकता पाने वाले भारत कुमार ने कहा कि मुझे ऐसा महसूस हो रहा है कि मुझे नया जीवन में मिल गया है। मैं प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद देना चाहता हूं। हम 10 से 11 साल से इसी दिन का इंतजार कर रहे थे। जब से हम भारत में आए थे तब से इसी दिन का इंतजार कर रहे थे। यहां मैं दिल्ली के मजनू टीला में रह रहा हूं। आप सबको पता है कि पाकिस्तान में किस तरह की जिंदगी लोग जी रहे हैं। वहां बहन बेटियों की भी इज्जत नहीं थी। हम पाकिस्तान के सिंध हैदराबाद में रहता था। वहां मैं कभी स्कूल तक नहीं गया।

'पीएम मोदी और भारत की आभारी हूं'
नागरिकता प्रमाणपत्र प्राप्त करने वाली यशोदा कहती ने कहा कि मैं 2013 से भारत में रह रही हूं। मैं पाकिस्तान के सिंध हैदराबाद से यहां पहुंचे थे। अब जब मुझे नागरिकता मिल गई है, तो स्थिति बेहतर होगी। मैं इसी दिन का इंतजार कर रही थी कि कब मुझे नागरिकता मिलेगी और कब मेरे बच्चे पढ़ सकेंगे। पीएम मोदी और भारत की आभारी हूं। 

'हमारे लिए सपना साकार होने जैसे पल है'
नागरिकता मिलने के बाद पाकिस्तान से पहुंचे हरीश कुमार ने कहा कि हम 12 से 13 से दिल्ली मजनू के टीले पर रह रहे थे। हम पाकिस्तान से यहां आए थे। इंसान को अधिकार नहीं हो, तो दिक्कतें होती हैं। अब हमें भारतीय होने के सारे अधिकार मिलेंगे। भारत सरकार और बीजेपी सरकार को धन्यवाद देना चाहता हूं। यह ड्रीम कम ट्रू होने वाली बात है। अब हम आगे की शिक्षा ले सकेंगे और नौकरी कर सकेंगे। 

आज 300 लोगों को दी जा रही नागरिकता: अमित शाह
गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि सीएए के तहत आज (बुधवार,15 मई) ही दिल्ली में 300 लोगों को नागरिकता दी जा रही है। सीएए देश का कानून है। बता दें कि गृह मंत्री अमित शाह ने इस साल फरवरी में कहा था कि लोकसभा चुनाव से पहले इस कानून को लागू कर दिया जाएगा। इसके ठीक एक महीने बाद 11 मार्च को केंद्र सरकार ने इस कानून को अधिसूचित कर दिया। इसके कुछ ही दिनों बाद पोर्टल लॉन्च कर लोगों से आवेदन प्राप्त किए जाने लगे। मंगलवार को पश्चिम बंगाल की एक रैली में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर झूठ फैलाने का आरोप लगाया था।

घटा दी गई है नागरिकता आवेदन अवधि
नागरिकता हासिल करने वाले लोगों में जिसमें पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से प्रताड़ित गैर-मुस्लिम प्रवासियों को भारतीय राष्ट्रीयता प्रदान करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। सीएए के तहत इन तीन देशों से 31 दिसंबर, 2014 से पहले भारत आए गैर-मुस्लिम लोगों के लिए नागरिकता आवेदन की योग्यता अवधि को 11 से घटाकर 5 वर्ष कर दिया गया है। इस कानून का देश की विपक्षी पार्टियों ने विरोध किया था। 

सीएए के तहत नागरिकता पाने के लिए ऐसे करें अप्लाई

5379487