Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जर्मनी के दो युवाओं का कारनामाः सिलिकॉन से बनाए असली दिखने वाले हाथ-पैर

दूर से देखने पर बिलकुल भी पता नहीं चलता कि उंगली नकली है।

जर्मनी के दो युवाओं का कारनामाः सिलिकॉन से बनाए असली दिखने वाले हाथ-पैर
ड्रेसडेन। किसी एक्सीडेंट या हादसे में अपने हाथ-पैर खो चुके लोगों के लिए अच्छी खबर है। जर्मनी के दो युवाओँ ने सिलिकॉन प्रोस्थेसिस के ऐसे हाथ-पैर और इनकी अंगुलियां बनाने में कामयाबी हासिल की है जो देखने में बिल्कुल असली लगते हैं। यही नहीं, इन्हें पहनने पर किसी तरह की परेशानी भी नहीं होती और आप लंबे समय तक आसानी से इन्हें पहन सकते हैं। ये कमाल करने वाले जर्मन युवा ऐलेक्स स्टैमॉस और क्रिस्टोफ ब्राउन पेशे से डिजाइनर्स हैं। इन दोनों ने करीब छह महीने पहले स्टैमॉस ब्राउन प्रोस्थेसेनवेर्क बनाया था।
इनकी जोड़ी ने सभी पेशेंट की अलग अलग जरूरतों को ध्यान में रख कर एकदम असली दिखने वाले प्रोस्थेटिक्स का निर्माण करते हैं और ये प्रोस्थेटिक्स वर्क बिलकुल भी खराब नहीं दिखते हैं। इसको दूर से देखने पर बिलकुल भी पता नहीं चलता कि उंगली नकली है। बिलकुल पास से देखने पर फिंगर जॉइंट लाइन थोड़ी अलग दिख सकती है। ऐलेक्स स्टैमॉस और क्रिस्टोफ ब्राउन बताते हैं कि हम कछ अलग और स्पेशल करना चाहते थे। इसलिए हम दोनों ने मिल कर सिलिकॉन प्रोस्थेसिस का निर्माण करने की सोची। हमारी हमेशा यही कोशिश रहती है की हम पेशेंट्स को अच्छी फीलिंग दे सकें क्योंकि ये क्या कम दुःख की बात है कि उन्होंने अपने शरीर का कोई अंग खो दिया है। अब हम सिलिकॉन प्रोस्थेसिस के जरिये लोगों को उनकी खुशियां वापस दिलाने में मदद कर सकते हैं।
उन्होंने आगे बताया कि अगर हमें सिर्फ एक छोटी उंगली बनानी हो तो मुश्किल से 1 से 2 दिन लग सकते हैं लेकिन अगर हाथ या पैर का पूरा कवर बनें हो तो 1 हफ्ता या उससे थोड़ा ज्यादा भी लग सकता है। डिजाइन बनाने के बाद इन्होंने उसे ह्यूमन बॉडी पर टेस्ट भी किया था। इसका नतीजा भी काफी पॉजीटिव रहा था। इसके बाद दुनिया भर से इनके बनाए डिजाइन्स की डिमांड आने लगी है।
साभार: डेली मेल
नीचे की स्लाइड्स में देखिए, स्टैमॉस और ब्राउन का सिलिकॉन प्रोस्थेसिस वर्क-

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि और हमें फॉलो करें ट्विटर पर-

Next Story
Top