Logo
election banner
Positive Dinner Habits: रात का खाना अगर सही तरीके से खाया जाए तो ये आपकी पूरी सेहत को बेहतर बनाए रखने में अहम रोल अदा कर सकता है।

Positive Dinner Habits: सेहतमंद रहने के लिए हमारा खान-पान सही होना बेहद जरूरी होता है। कहते हैं कि दिन का खाना राजा की तरह और रात का खाना फकीर की तरह खाना चाहिए। आज हम आपको डिनर से जुड़ी कुछ आदतों के बारे में बता रहे हैं, जिसे अपनाकर आप अपनी सेहत को पूरी तरह से बदल सकते हैं। कई छोटी-छोटी गलतियां हमारी सेहत पर धीरे-धीरे बुरा असर डालती हैं और इसका नतीजा बीमारी के तौर पर सामने आता है। 

आपकी डिनर हैबिट सही रहेगी तो इससे वजन कंट्रोल होने के साथ ही ब्लड शुगर लेवल भी काबू में रहेगा। आप अगर हाई कोलेस्ट्रॉल, फैटी लिवर, डायबिटीज या हाई ब्लड प्रेशर जैसी समस्याओं से जूझ रहे हैं तो कुछ डिनर हैबिट्स को अपनाना फायदेमंद रहेगा। 

डिनर की 5 आदतों में करें बदलाव

7 बजे से पहले खाएं खाना - हेल्दी रहना चाहते हैं तो रात के खाने के समय में बड़ा बदलाव जरूरी है। कोशिश करें कि रोज़ाना सूरज ढ़लने से पहले या शाम 7 बजे से पहले डिनर कर लें। हमारे बड़े-बुजुर्ग इसी आदत को अपनाकर लंबी उम्र तक सेहतमंद रहे हैं। जल्दी खाने से डाइजेशन और मेटाबॉलिज्म में जबर्दस्त सुधार नजर आएगा। रात में नींद भी बेहतर होगी। 

इसे भी पढ़ें: When to Drink Milk: दूध पीने का सबसे अच्छा समय कौन सा है? कब मिलेगा ज्यादा फायदा, न्यूट्रिशनिस्ट से जान लें जवाब

ऑयली, फ्राइड चीजें न खाएं - लंच आप भले ही हैवी लें, लेकिन जब बात डिनर की हो तो उसमें फ्राइड और ऑयली फूड को अवॉइड करें। डिनर में कोशिश करें हल्के से हल्का भोजन हो। रात में हैवी फूड लिया जाए तो इसे पचने में काफी मुश्किल होती है। डिनर में लिया गया फैट कम बाइल प्रोडक्शन की वजह से डाइजेस्ट नहीं हो पाता है जो बीमारी की वजह बनता है। 

एनिमल प्रोटीन से दूरी बनाएं - डिनर में अगर एनिमल प्रोटीन लिया जाए तो इसे पचाने में काफी मेहनत लगती है और ये लिवर को भी सपोर्ट नहीं करता है। डिनर में लिया गया एनिमल प्रोटीन गट हेल्थ को बिगाड़ सकता है और पेट संबंधी समस्याएं शुरू हो सकती हैं। 

मिलेट आधारित फूड लें - रात के भोजन में आप कोशिश करें कि मिलेट आधारित फूड हो। इसके साथ ही दलिया, खिचड़ी जैसे लाइट फूड को भी डिनर में शामिल किया जा सकता है। ये फाइबर रिच फूड्स हैं जिन्हें डाइजेस्ट करना काफी आसान होता है और इससे पेट की सेहत भी दुरुस्त बनी रहती है। ये अच्छी मेंटल हेल्थ और बेहतर नींद भी देते हैं। 

इसे भी पढ़ें: Weight Loss Seeds: रातभर पानी में भिगोकर खाएं यह काले बीज, लटकी तोंद हो जाएगी अंदर, हड्डियां बनेंगी मजबूत

समझदारी से खाएं - लंच हो या डिनर हमेशा भूख से थोड़ा कम ही लेना चाहिए। खासतौर पर डिनर की जब बात हो तो खाने के मामले में थोड़ी समझदारी दिखानी जरूरी है। अगर कोई चीज स्वादिष्ट लग रही है तो भी उसे ज्यादा खाने से बचें। रात का खाना हमेशा न्यूट्रिशियस और डाइट होना चाहिए। 

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. हरिभूमि इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

jindal steel Ad
5379487