logo
Breaking

जानिए क्यों आती है हिचकी और इसके उपचार

हमारे आस-पास जब भी किसी को हिचकी आती है, तो लोग अक्सर उससे किसी के याद करने के बारे में पूछते हैं। क्या वाकई में हिचकी आना, किसी के याद करने का एक संकेत है या सिर्फ एक भ्रांति। इसे जानने के लिए हमें सबसे पहले हिचकी के वैज्ञानिक कारणों को जानना बेहद जरूरी है। आमतौर पर हिचकी आने के पीछे शरीर में पानी की कमी को भी अहम माना जाता है।

जानिए क्यों आती है हिचकी और इसके उपचार
हमारे आस-पास जब भी किसी को हिचकी आती है, तो लोग अक्सर उससे किसी के याद करने के बारे में पूछते हैं। क्या वाकई में हिचकी आना, किसी के याद करने का एक संकेत है या सिर्फ एक भ्रांति। इसे जानने के लिए हमें सबसे पहले हिचकी के वैज्ञानिक कारणों को जानना बेहद जरूरी है। आमतौर पर हिचकी आने के पीछे शरीर में पानी की कमी को भी अहम माना जाता है। इसलिए आज हम आफको हिचकी आने की वजह और उसके उपचार के बारे में बता रहे हैं। जिससे आप हिचकी आने पर उसे सही तरीके से रोक सकें। पारंपरिक तौर पर हिचकी रोकने के लिए लोग एक-दूसरे को चौंकाने वाले उपाय को आजमाते हैं।

हिचकी आने की वजह :

जब भी हम सांस लेते हैं, तो उससे फेफड़ों में हवा जाती है। जिससे सीने पेट के बीच मौजूद एक पर्दे (डायफ्रॉम) में कंपन पैदा होता है। ऐसे में सांस लेने के प्रवाह टूट जाता है और हिचकी आने लगती है।

हिचकी रोकने के उपचार :

1. अगर आपको भी अचानक से हिचकी आनी शुरू हो जाए और ऐसे में आप घर में मौजूद हों तो उसे रोकने के लिए ठंडा पानी पीना, शकर निगलना,
कुछ सेकंड के लिए सांस रोकना, कुचली हुई बर्फ निगलना फायदेमंद रहेगा।
2.अगर आप घर से बाहर हैं, तो हिचकी को रोकने के लिए आप अपने दोनों कानों में अंगुली डालकर कुछ देर के लिए सांस रोककर रखें, आराम मिलेगा।
3. अगर आप घर में हैं और आप को हिचकी आती है, तो उसे रोकने के लिए शुद्ध और ताजा देशी घी को गर्म करके खाना भी लाभदायक रहेगा।
4. घर पर किसी को हिचकी आए, तो उसे रोकने के लिए आप तुलसी के पत्ते या थोड़ी सी शक्कर खिला कर भी कंट्रोल कर सकते हैं।
5. अगर आपको हिचकी काफी देर तक आती रहे, तो ये समस्या गंभीर बन सकती है। ऐसे में तुरंत डॉक्टर की सलाह लेना बेहद फायदेमंद रहेगा।
Share it
Top