Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना वायरस से खाद्य पदार्थों को संक्रमित होने से ऐसे बचाएं

कोरोना संक्रमण से बचने के लिए आप हर तरह के प्रयास कर रहे हैं। लेकिन इसके साथ ही अपने खाद्य पदार्थों को भी संक्रमण से बचाना बहुत जरूरी है। जरा-सी लापरवाही आपको बीमार बना सकती है। यहां बताई जा रही बातों पर अमल करके आप कोरोना ही नहीं तमाम अन्य बीमारियों के संक्रमण से भी बच सकते हैं।

कोरोना वायरस से खाद्य पदार्थों को संक्रमित होने से ऐसे बचाएं
X
कोरोना वायरस के संक्रमण से खाद्य पदार्थों को बचायें

इन दिनों महामारी कोविड-19 से दुनिया भर में अनिश्चितता की स्थिति बनी हुई है और हर कोई दहशत में है। एक चेन की तरह कोरोना संक्रमण को फैलने से बचाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। आज जहां सोशल डिस्टेंसिंग, पर्सनल हाइजीन, मास्क पहनने, बार-बार हाथ धोने पर जोर दिया जा रहा है, वहीं खरीदारी करने, बाहर से सामान घर लाने या ऑनलाइन मंगवाने में भी सतर्क रहने की जरूरत है। खासकर फल-सब्जियां या अन्य खाद्य पदार्थों को खरीदने और उनके इस्तेमाल में विशेष सावधानी बरतने की जरूरत है। अकसर उनमें कई तरह के बैक्टीरिया या वायरस चिपके होते हैं, जो ध्यान न दिए जाने पर आहार को संक्रमित कर देते हैं। संक्रमित आहार हमारे इम्यून सिस्टम को प्रभावित करते हैं और कई बीमारियों का कारण बन सकते हैं। लिहाजा कुछ टिप्स की मदद से आप वायरस फैलने की शिकार होने के रिस्क को कम कर सकते हैं।

खरीदते समय रखें ध्यान

-फल-सब्जियां ताजी और मौसम के अनुसार हों। मुरझाए हुए, दागी, कटे-फटे या पिलपिले सब्जियों के प्रयोग से बचें।

-फ्रोजन खाद्य पदार्थ तभी खरीदें, जब उन्हें जल्द से जल्द फ्रीजर में रखने की स्थिति में हों। गुणवत्ता और एक्सपायरी डेट जरूर चेक करें।

-सामान लेने जाते वक्त हमेशा अपना थैला लेकर जाएं, जिसमें दुकानदार का बैग रखकर लाएं। घर आकर बैग से सामान निकालकर दुकानदार का पैकेट फेंक दें।

-ऑनलाइन शॉपिंग में संभव हो तो डिलीवरी के बाद सामान 3-4 घंटे के लिए घर के बाहर ही रखें या फिर पानी से धोकर अंदर लाएं।

-खाने-पीने की चीजों की पैकिंग हटाकर निकाल लें। पैकिंग पॉलिथीन में बंद करके कूड़ेदान में डालें और साबुन से अपने हाथ तुरंत धो लें।

-पैकेट या डिब्बे में आने वाले खाद्य पदार्थों की पैकेजिंग बाहर से जरूर साफ करनी चाहिए। लेमेनेटिड हार्ड बॉक्स को तो गुनगुने पानी से, पेपर बॉक्स या प्लास्टिक रैप को गीले कपड़े या सेनिटाइजर से साफ करें।

स्टोर करने से पहले

-फल-सब्जियों को खुले पानी में धोएं। गुनगुना पानी हो तो बेहतर है।

-पानी में नमक, नीबू, एप्पल विनेगर, इमली या बेकिंग सोडा डालकर इन्हें 5-10 मिनट के लिए छोड़ दें। उसके बाद उसे नॉर्मल पानी में धो लें।

-फ्रिज में फल-सब्जियों को अलग-अलग कंटेनर में रखें, क्योंकि फलों को पकाने के लिए कई बार एथलीन नामक केमिकल डाला जाता है, जो सब्जियों को खराब कर देता है।

-अंडे फ्रिज में गुनगुने पानी से धोकर रखें ताकि उनके ऊपर किसी तरह की गंदगी न रहे।

-आलू, शकरकंद, अदरक, लहसुन और प्याज जैसी जल्दी खराब न होने वाली सब्जियां गुनगुने पानी से धोकर धूप में 4-5 घंटे सुखाएं ताकि मिट्टी, कीटाणु या बैक्टीरिया नष्ट हो जाएं।

-दालें, आटा, खड़े मसाले, चावल जैसी लंबे समय तक स्टोर की जाने वाली चीजों के पैकेट कम से कम दो दिन तक धूप में रखें।

-दूध के पैकेट खोलने से पहले नल के बहते पानी के नीचे अच्छी तरह धोएं। दूध को उबालने के बाद ही इस्तेमाल करें। डेरी का दूध लेते समय यह जरूर चेक करें कि दूध देने वाली गाय-भैंस स्वस्थ हो, डेरी में साफ-सफाई का ध्यान रखा जाता हो।

रखें पर्सनल हाइजीन

-अगर आप बाहर से आते हैं, तो सबसे पहले हाथ-मुंह जरूर धोएं, तभी रसोई में जाएं।

-फल-सब्जियां धोने के बाद अपने हाथ भी अच्छी तरह धोएं ताकि मिट्टी और बैक्टीरिया हाथ में न लगे रह जाएं।

-खाना बनाने से पहले अपने हाथ अच्छी तरह धोएं, नाखून साफ हों, बाल अच्छी तरह बंधे हों। खाना पकाते हुए एप्रैन और हेड कैप जरूर पहनें ताकि बाल, डेंड्रफ, माथे पर लगा सिंदूर वगैरह खाने में न गिरे।

खाना पकाते समय

-खाना ठीक टेंपरेचर पर और पूरी तरह पकाएं।

-खाना हमेशा स्वस्थ व्यक्ति को ही पकाना चाहिए ताकि बीमारी के कीटाणु अन्य सदस्यों तक न पहुंचें।

-खाना पकाने की जगह की साफ-सफाई का ध्यान रखें। स्लैब, गैस बर्नर साफ हो, बर्तनों में साबुन वगैरह न लगा हो। कॉकरोच, कीड़े-मकौड़ों जैसे इंसेक्ट्स को हटाने के लिए समय-समय पर स्प्रे का इस्तेमाल करें।

-सब्जियों, मांसाहारी खाद्य पदार्थों को काटने के लिए चाकू या चोपिंग बोर्ड और बर्तन अलग-अलग रखें। इस्तेमाल के बाद नमक मिले गुनगुने पानी से अच्छी तरह जरूर धोएं ताकि उन पर किसी तरह का बैक्टीरिया न रह जाए।

-दाल-चावल जैसी खाद्य पदार्थ बनाने से पहले अच्छी तरह चुनने और धोने के बाद ही बनाएं। ताकि उनमें किसी तरह के कीड़े, कंकड, गंदगी या पॉलिश न लगी रह जाए।

-फलों के छिलके उतार कर खाएं ताकि गले हुए फल का पता लग सके। अंगूर, स्ट्रॉबेरी, चेरी, बेरीज जैसे छिलके सहित खाए जाने वाले फलों को पानी में कम से कम एक घंटा भिगोकर साफ करें।

-खाना पकाने के लिए उबला हुआ साफ पानी ही इस्तेमाल करें। सब्जियां, दालें जैसे खाद्य पदार्थ भी साफ पानी से धोएं।

-यथासंभव ताजा और गर्म खाना ही खाएं।

- अगर खाना बच जाता है तो आप उसे अगले मील तक जरूर खत्म कर लें। रूम टेंपरेचर पर आने के बाद ही बचे खाने को एयरटाइट डिब्बे में डाल कर फ्रिज में रखें।

-स्टोर किया भोजन खाने से करीब 15-20 मिनट पहले फ्रिज से निकाल लें फिर गर्म करके ही खाएं।

Next Story